1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. jharkhand crime news major accident was averted in gumlas satya construction camp criminals fired but no one was shot srn

गुमला के सत्या कंस्ट्रक्शन कैंप में बड़ा हादसा टला, अपराधियों ने की फायरिंग, मुंशी को धमकी दे भाग निकले

सत्या कंस्ट्रक्शन के कैंप में फायरिंग, गोली चलाते समय बंदूक टूटा तो भागे अपराधी, भागते वक्त अपराधियों ने सड़क निर्माण कार्य बंद रखने की धमकी दी है. सत्या कंस्ट्रक्शन कंपनी करोड़ों रुपये की लागत से पालकोट में सड़क बना रही है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
गुमला में चली गोली
गुमला में चली गोली
सांकेतिक तस्वीर

Crime In Gumla गुमला : पालकोट थाना के डहूपानी पंचायत के लोटवा गांव में सत्या कंस्ट्रक्शन द्वारा सड़क बनाने के लिए अस्थायी रूप से कैंप की स्थापना की गयी है. इस कैंप में शनिवार की रात 10 बजे तीन अपराधियों ने हमला किया. सड़क का काम बंद करने की धमकी देते हुए हवाई फायरिंग की. परंतु दुर्भाग्यवश गोली चलाते वक्त अपराधियों की बंदूक टूट गयी और अपराधी भाग निकले. बाइक से भागते हुए अपराधियों ने मुंशी मुकेश कुमार व मिलर ऑपरेटर मनोज सोरेन को सड़क का काम बंद रखने की धमकी दी.

यहां बता दें कि पालकोट में सत्या कंस्ट्रक्शन द्वारा करोड़ों रुपये की लागत से सड़क बनवायी जा रही है. घटना की सूचना के बाद नक्सल इलाका होने के कारण रात को पुलिस लोटवा गांव नहीं गयी. रविवार की सुबह को एसडीपीओ विकास आनंद लागुरी, थानेदार राहुल झा, एसआइ निरंजन कुमार सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारी गांव पहुंचकर मामले की जांच की और मजदूरों से पूछताछ की.

यह उग्रवादी घटना नहीं है : एसडीपीओ :

जानकारी के अनुसार रात को तीन अपराधी बाइक के साथ हथियार लेकर लोटवा गांव पहुंचे. अपराधी सड़क का काम देख रहे मुंशी मुकेश कुमार को खोजने लगे. तभी सत्या कंस्ट्रक्शन के मिलर ऑपरेटर मनोज सोरेन ने कहा कि हमारे मुंशी हमारे साथ नहीं रहते हैं. वह बगल के मकान में रहते हैं. तभी एक अपराधी ने धमकी देते हुए कहा कि मुंशी को हमारे कमांडर आरफिन खान ने तेतरटोली में बुलाया है.

इसके बाद मनोज सोरेन को अपराधी मुंशी मुकेश कुमार के घर के समीप ले गये और दरवाजा खुलवाया. मुकेश को अपराधियों ने अपने कमांडर के पास ले जाने के क्रम में दो हवाई फायरिंग की, तो बंदूक फट गया. इसके बाद मुंशी को छोड़ कर तीनों अपराधी फरार गये. एसडीपीओ ने कहा कि यह कोई उग्रवादी घटना नहीं है. बल्कि कुछ अपराधी दहशत फैलाने की मंशा से ऐसा किया गया है. पुलिस जांच कर रही है. अपराधी बहुत जल्द पुलिस के शिकंजे में होंगे.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें