1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. hospital is not in the ongoing block of gumla patients have to go for treatment in chhattisgarh smj

गुमला के जारी प्रखंड में नहीं है हॉस्पिटल, मरीजों को इलाज के लिए जाना पड़ता है छत्तीसगढ़

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
गुमला विधायक भूषण तिर्की ने सदन में जारी प्रखंड में हॉस्पिटल व डॉक्टर पदस्थापना की मांग की.
गुमला विधायक भूषण तिर्की ने सदन में जारी प्रखंड में हॉस्पिटल व डॉक्टर पदस्थापना की मांग की.
प्रभात खबर.

Jharkhand News, Gumla News, गुमला न्यूज : गुमला जिला अंतर्गत शहीद अलबर्ट एक्का जारी प्रखंड में हॉस्पिटल और डॉक्टर दोनों नहीं है. इस कारण प्रखंड की 28 हजार आबादी को परेशानी झेलनी पड़ रही है. इलाज के लिए या तो गुमला तो फिर छत्तीसगढ़ जाना पड़ता है. हॉस्पिटल और डॉक्टर की समस्या को लेकर गुमला विधायक भूषण तिर्की गंभीर हैं. उन्होंने झारखंड सरकार से जारी में हॉस्पिटल और डॉक्टर की पदस्थापना करने की मांग की है.

गुमला के शहीद अलबर्ट एक्का जारी प्रखंड में हॉस्पिटल और डॉक्टर नहीं होने से ग्रामीणों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है. इस संबंध में गुमला विधायक भूषण तिर्की ने झारखंड विधानसभा के बजट सत्र में शून्यकाल के दौरान जारी प्रखंड में हॉस्पिटल और डॉक्टर को पदस्थापित करने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि जारी प्रखंड देश के सबसे बड़े वीर पुत्र शहीद अलबर्ट एक्का का है. काफी प्रयास और आंदोलन के बाद जारी को प्रखंड का दर्जा मिला, लेकिन जिस तेजी से इस क्षेत्र का विकास होना चाहिए था वो नहीं हो पाया.

हॉस्पिटल भवन बनाने का काम शुरू हुआ, लेकिन भाजपा की सरकार ने हॉस्पिटल बनने नहीं दिया. जिस कारण आज भी इस प्रखंड में हॉस्पिटल और डॉक्टर दोनों नहीं है. अगर ये दोनों सुविधा हो जाती है, तो इस क्षेत्र के लोगों को स्वास्थ्य का लाभ मिलेगा.

जारी प्रखंड में डॉक्टर की मांग

विधायक भूषण तिर्की ने विधानसभा सत्र के शून्यकाल के दौरान अपनी मांग रखे हैं. उन्होंने जारी प्रखंड में डॉक्टर की मांग किया है. विधायक ने कहा है कि जारी प्रखंड क्षेत्र के परमवीर चक्र विजेता परमवीर अलबर्ट एक्का के नाम पर वर्ष 2010 में जारी प्रखंड का निर्माण हुआ, लेकिन निर्माण के बाद पूर्व की सरकार ने इस परमवीर चक्र विजेता के प्रखंड में किसी भी प्रकार का लेखा-जोखा लेने का काम नहीं किया.

11 साल बीतने के बाद भी प्रखंड में एक भी डॉक्टर का पदस्थापन नहीं हुआ है. प्रखंड में डॉक्टर के अभाव में प्रसव पीड़ा व अन्य रोगों से ग्रसित लोगों को इलाज कराने के लिए 65 किमी दूर गुमला या 30 किसी दूर दूसरे प्रदेश छतीसगढ़ जाना पड़ता है. उन्होंने जारी प्रखंड में डॉक्टर की पदस्थापन करने की मांग की है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें