26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

चैती छठ : 14 को अस्ताचल सूर्य को अर्घ देंगे व्रती

चैती छठ महापर्व नहाय खाय के साथ 12 अप्रैल से

औरंगाबाद सदर. चैती छठ में अब कुछ ही दिन बाकी हैं. चैती छठ महापर्व नहाय खाय के साथ 12 अप्रैल से शुरू होगा. चार दिवसीय पर्व का समापन 15 अप्रैल को होगा. गौरतलब है कि छठ महापर्व साल में दो बार मनाया जाता है. एक कार्तिक मास में और दूसरा चैत्र मास में. दोनों समान विधान के साथ मनायी जाती है. चैती छठ पंचांग के अनुसार चैत्र मास के शुक्लपक्ष की षष्ठी तिथि को मनाई जाती है. इस व्रत की शुरुआत नहाय-खाय के साथ होती है. इसमें महिलाएं 36 घंटे का लंबा व्रत करती हैं. इस साल चैती छठ पर्व 12 अप्रैल को नहाय खाय के साथ प्रारंभ हो रहा है. इसके बाद 13 अप्रैल को खरना, 14 अप्रैल को अस्ताचल सूर्य को अर्घ व 15 अप्रैल को उगते हुए सूर्य को अर्घ देने के साथ पर्व का समापन होगा. खरना में दोपहर बाद घरों में प्रसाद तैयार किया जायेगा. संतान, सुख व समृद्धि के लिए होता है व्रत छठ का पर्व संतान सुख व संतान के दीर्घायु और घर-परिवार में सुख-समृद्धि व खुशहाली के लिए किया जाता है. कहा जाता है कि छठी मईया भगवान सूर्य की बहन हैं,इसलिए इस दिन छठी मईया व भगवान सूर्य की पूजा की जाती है. छठ को लेकर माहौल पूरा भक्तिमय हो गया है. हर तरफ छठ के गीत गूंज रहे है. कांच ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाए व दर्शन दिहिं न अपार जैसे पारंपरिक गीत बज रहे हैं. देव में छठ मेले को लेकर तैयारी जारी है. ेकेडीएम श्रीकांत शास्त्री व एसपी स्पप्ना जी मेश्राम लगातार पूरे विधि व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं. साफ सफाई से लेकर सजावट का कार्य जारी है. व्रतियों को झुलसायेगी गर्मी, 37 डिग्री रहेगा तापमान इस बार चैती छठ व्रत श्रद्धालुओं के लिए कठिन होने वाला है. इस बार शुरुआत में ही अच्छी खासी गर्मी पड़ने लगी है. मौसम की देखें तो व्रतियों को गर्मी की तपिश झेलनी पड़ सकती है. 12 अप्रैल यानी शुक्रवार को नहाय खाय के दिन से लेकर 15 अप्रैल तक अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस रहेगा. जिला पुलिस बल के साथ अर्ध सैनिक बलों की होगी तैनाती देव चैती छठ मेले में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होंगे. जिला पुलिस बल के साथ अर्ध सैनिक बलों की सुरक्षा व्यवस्था में लगाया जायेगा. इसके साथ ही बिहार राज्य भारत स्काउट गाइड के 400 की संख्या में स्काउट गाइड 12 अप्रैल से 15 अप्रैल तक विधि व्यवस्था के देखरेख में तैनात रहेंगे. जिला प्रशासन का सहयोग करने को लेकर इन्हें प्रतिनियोजित किया गया है. स्काउट गाइड के जिला संगठन आयुक्त श्रीनिवास कुमार ने बताया कि स्काउट गाइड पूरे छठ मेला क्षेत्र में एक तरफ रास्ता नियंत्रण, सूर्यकुंड तालाब, सूर्य मंदिर आदि स्थानों पर छठव्रतियों को परेशानी नहीं हो इसके लिए तैनात रहेंगे और जिला प्रशासन का सहयोग करेंगे. इसके साथ- साथ नियंत्रण कक्ष एवं भूले -भटके लोगों को उचित स्थान पर पहुंचाने हेतु कार्य करेंगे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें