देश समाज व अपनी संस्कृति की रक्षा के लिए संगठित हों : कौशल राज सिंह देव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रविकांत साहू, सिमडेगा

ठेठईटांगर प्रखंड खेल मैदान में एकल अभियान विद्यालय के तत्वाधान में संच सम्मेलन का आयोजन किया गया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित विश्व हिंदू परिषद के जिला अध्यक्ष कौशल राज सिंह देव ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज अपने परिवार, समाज, देश अपने संस्कृति और धर्म की रक्षा के लिए संगठित होने की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि आज सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिवस पर देश की अखंडता को बचाने एवं विश्व गुरु बनाने के लिए संकल्प लेने की जरूरत है. आज एकल विद्यालय अभियान का 30 वर्ष हो गया. पूरे देश में लगभग एक लाख विद्यालय संचालित हैं. इसे हमें आगे बढ़ाने की जरूरत है.

उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून को देश के और अपने लोगों के हित में बताया. हमें अपने देश की रक्षा के लिए सदा तैयार रहने की जरूरत है. देश से बड़ा कोई नहीं है. इस अवसर पर जीतबहान बड़ाइक ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को एकल अभियान विद्यालय के उद्देश्य के बारे में बताया. कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती की तस्वीर पर माल्यार्पण कर एवं दीप प्रज्जवलित कर किया गया.

कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों का माला पहनाकर कर स्वागत किया गया. इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये. जिसमें धवाईपानी, अलसंगा, बखरी टोली के अलावा अन्य गांवों के बच्चों द्वारा गीत नृत्य प्रस्तुत किया गया. इस अवसर पर व्‍यास यशोदा कुमारी, चंद्रिका देवी, सुमती कुमारी, कौशल्या कुमारी, शांति कुमारी, मीरा कुमारी के द्वारा भजन प्रस्तुत किया गया.

मंच संचालन फिरमोहन बड़ाइक ने किया. इस अवसर पर कमल सेनापति, सुरेंद्र पात्र, मुनेश्वर बड़ाइक, राजेंद्र कुमार, अशोक कुमार, शिवनारायण तिवारी, बसंत प्रधान, मुखिया बंधू मांझी, श्यामसुंदर सिंह, मुन्ना नायक व अन्य लोग उपस्थित थे. कार्यक्रम में ठेठईटांगर, जोराम, केरया, ताराबोगा, कोनमेजरा, पाइकपारा, कोनपाला पंचायत के अलावा अन्य पंचायत के लोग उपस्थित थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें