1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ramgarh
  5. worshiping maa chinnamastike overnight during amavasya devotees were mesmerized after seeing the attractive lighting of the temple smj

अमावस्या में रातभर हुई मां छिन्नमस्तिके की पूजा आराधना, मंदिर की आकर्षक लाइटिंग देख मंत्रमुग्ध हुए श्रद्धालु

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : रजरप्पा के मां छिन्नमस्तिके मंदिर को आकर्षक ढंग से सजाया गया.
Jharkhand news : रजरप्पा के मां छिन्नमस्तिके मंदिर को आकर्षक ढंग से सजाया गया.
प्रभात खबर.

Jharkhand news, Ramgarh news : रजरप्पा (सुरेंद्र कुमार/शंकर पोद्दार) : रामगढ़ जिला अंतर्गत रजरप्पा मंदिर में शनिवार (14 नवंबर, 2020) को तंत्र- मंत्र की देवी माहामाया मां काली की पूजा धूमधाम से की गयी. इस अवसर पर संध्या लगभग 7 बजे वार्षिक पूजा की गयी. इसके बाद मां छिन्नमस्तिके का द्वार श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया. द्वार खुलते ही काफी संख्या में भक्तों ने मां छिन्नमस्तिके देवी की विधिवत पूजा-अर्चना कर मत्था टेका. अमावस्या को लेकर रजरप्पा मंदिर में मां काली एवं मां छिन्नमस्तिके देवी की रातभर पूजा-अर्चना हुई.

मंदिर प्रक्षेत्र में रातभर मां काली का भजन सोकोली तोमार इच्छा, इच्छा मोई तारा तुमी, तोमार कोर्मो तुमी कोरो मां... बजाया गया, जिससे पूरा मंदिर क्षेत्र भक्तिमय वातावरण में सराबोर रहा. साथ ही मां भगवती के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा है. यहां विभिन्न हवन कुंडों में साधक, श्रद्धालुओं एवं तांत्रिक द्वारा मंत्रोच्चारण के साथ हवन एवं जाप किया गया. संध्या में मां भगवती की विशेष श्रृंगार एवं आरती की गयी.

अमावस्या पड़ते ही मां छिन्नमस्तिके देवी की दर्शन के लिए दूर- दराज से पहुंचे लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. इसके अलावे कुमूद प्रीता ट्रस्ट परिसर स्थित दक्षिणेश्वर काली मंदिर में भी मां काली की विशेष पूजा- अर्चना की गयी. रजरप्पा मंदिर में मंगलवारी ग्रुप एवं रजरप्पा न्यास समिति द्वारा भव्य भंडारा का आयोजन किया गया, जिसमें काफी संख्या में लोग शामिल होकर प्रसाद ग्रहण किये. काली पूजा को लेकर झारखंड के अलावे पश्चिम बंगाल, बिहार, ओड़िशा, उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों से काफी संख्या में श्रद्धालु एवं साधक रजरप्पा मंदिर पहुंचे.

रजरप्पा में काली पूजा का है विशेष महत्व

काली पूजा को लेकर रजरप्पा मंदिर के 13 हवन कुंडों में श्रद्धालुओं, साधकों एवं तांत्रिकों द्वारा विशेष अनुष्ठान कर सिद्धि की प्राप्ति की गयी, जिससे पूरा मंदिर क्षेत्र मंत्रोच्चारण से रातभर गुंजता रहा. मान्यता है कि यहां एकांतवास में साधक तंत्र-मंत्र की सिद्धि प्राप्त करते हैं, जिससे उनकी मनोकामना प्राप्त होती है. गौरतलब हो कि तंत्र साधना के लिए रजरप्पा के मां छिन्नमस्तिके मंदिर को विशेष महत्व दिया जाता है. मौके पर मंदिर के पुजारी अजय पंडा, अशेष पंडा, असीम पंडा, सुभाशीष पंडा, सुबोध पंडा, सुजीत पंडा, लोकेश पंडा, गुड्डू पंडा, रितेश पंडा, राकेश पंडा, रंजीत पंडा, पोपेश पंडा सहित कई पुजारियों द्वारा हवन पाठ कराया गया.

आकर्षक विद्युत सज्जा देख मंत्रमुग्ध हुए लोग

रजरप्पा स्थित मां छिन्नमस्तिके देवी की मंदिर एवं दक्षिणेश्वर काली मंदिर में विद्युत सज्जा की गयी. मंदिर को रंग-बिरंगे फूलों एवं विद्युत सज्जा से आकर्षक और भव्य रूप से सजाया गया था, जिससे मंदिर का दृश्य अद्भुत नजर आ रही थी. कई लोगों ने मंदिर की तस्वीर ली. साथ ही अपने परिजनों के साथ यहां सेल्फी लेकर इस पल को यादगार बनाया.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें