24.7 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

शहर में ट्रैफिक नियम का उल्लंघन पड़ेगा महंगा, तैयारी में जुटी पुलिस

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में अब बड़े बदलाव की तैयारी है. इसको लेकर योजना तैयारी की जा रही है. अब ट्रैफिक नियम तोड़ना लोगों को भारी पड़ सकता है.

जल्द बदल जायेगी शहर की ट्रैफिक व्यवस्था

एसएसपी ने ट्रैफिक थाना प्रभारी और ट्रैफिक डीएसपी को दिये निर्देश

स्पीड गन और इंट्रासेप्टर से होगी स्पीड की जांच, रैश ड्राइविंग में पकड़े जाने पर होगी कार्रवाई

Jamshedpur (Shyam Jha) :

शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में अब बड़े बदलाव की तैयारी है. इसको लेकर योजना तैयारी की जा रही है. अब ट्रैफिक नियम तोड़ना लोगों को भारी पड़ सकता है. ट्रैफिक व्यवस्था दुरुस्त करने के पहले फेज में वर्षों से ट्रैफिक थाना में पदस्थापित आरक्षी, एएसआई और एसआई को बदलने की तैयारी की जा रही है. नये पुलिसकर्मियों को ट्रैफिक संभालने की जिम्मेदारी सौंपी जायेगी. इसको लेकर पुराने ट्रैफिक सिपाही से लेकर दारोगा स्तर तक के पुलिसकर्मियों की लिस्ट तैयार की जा रही है. इसके अलावा अवैध पार्किंग और ब्लैक स्पॉट वाले स्थान को चिह्नित किया जा रहा है. अवैध पार्किंग में खड़े वाहन चालकों को पहले हिदायत दी जायेगी. दूसरे चरण में उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुये जुर्माना वसूला जायेगा. अगले एक माह के अंदर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुदृढ़ करने का प्रयास एसएसपी किशोर कौशल के स्तर से किया जा रहा है. इसके लिये सभी ट्रैफिक थाना प्रभारी और ट्रैफिक डीएसपी को निर्देश दिया गया है.

स्पीड गन और इंट्रासेप्टर से होगी स्पीड की जांच, रैश ड्राइविंग में पकड़े जाने पर होगी कार्रवाई

शहर में तेजी व लापरवाही से वाहन चलाने के कारण अक्सर सड़क हादसे होते हैं. सड़क हादसा में लगाम लगाने के लिये वाहन की औसतन स्पीड 40 तय किया गया है. वाहन की स्पीड की जांच के लिये जिला पुलिस द्वारा स्पीड गन मंगायी जा रही है. इसके अलावा इंट्रासेप्टर के जरिये भी स्पीड की जांच की जायेगी. स्पीड गन का इस्तेमाल शहर में किया जायेगा. जबकि इंट्रासेप्टर का इस्तेमाल एनएच पर किया जायेगा. स्पीड गन से निकलने वाली किरणों के द्वारा वाहन की स्पीड मापी जा सकती है. ज्यादा स्पीड में वाहन चलाते पकड़े जाने पर ऑनलाइन चालान काटा जायेगा.

बॉडी कैमरा लगाकर वाहन की जांच करेंगे पुलिसकर्मी

ट्रैफिक पुलिस अब चेकिंग के दौरान बॉडी कैमरा लगाकर रहेंगे, ताकि चेकिंग के दौरान पकड़े जाने पर लोगों की हरकत को कैमरा में कैद किया जा सके. अक्सर लोग चेकिंग के द्वारा ट्रैफिक पुलिसकर्मी द्वारा दुर्व्यवहार किये जाने की शिकायत की जाती है. ऐसी स्थिति में सच्चाई का पता लगाने के लिए हर चेकिंग स्थल पर कम से कम दो पुलिसकर्मी बॉडी कैमरा से लैश होंगे. इसके अलावा टेकिंग प्वाइंट में चालान काटने की प्रक्रिया की समीक्षा खुद ट्रैफिक थाना प्रभारी करेंगे.

स्थायी नहीं होगा चेकिंग प्वाइंट

वर्तमान में ट्रैफिक पुलिस की ओर स्थायी चेकिंग प्वाइंट बनाया गया है. जिसके कारण लोगों को इस बात की जानकारी होती है कि किस सड़क पर और कहां ट्रैफिक पुलिस की चेकिंग होती है. ऐसे में लोग रास्ता बदल कर बिना हेलमेट के शहर में घूमते हैं. लेकिन नये नियम के तहत ट्रैफिक पुलिस का कोई स्थायी चेकिंग प्वाइंट नहीं होगा और ना ही स्थायी समय. पुलिस किसी भी वक्त कहीं भी चेकिंग कर सकती है. ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करने वालों का अब बचकर निकलना आसान नहीं होगा. इसके अलावा रात में मेन रोड के किनारे भारी वाहनों की पार्किंग पर भी रोक लगायी जायेगी. अक्सर मेन रोड के किनारे भारी वाहनों की पार्किंग होने से सड़क हादसा होने की संभावना बनी रहती है.

एसएसपी ने कहा…

जमशेदपुर एसएसपी किशोर कौशल ने कहा कि शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में बदलाव किया जा रहा है. इसके लिये कई निर्देश दिये गये हैं. वर्षों से एक ही ट्रैफिक थाना में जमे पुलिसकर्मियों को हटाया जायेगा. रैश ड्राइविंग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें