1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. jharkhand crime news joginder singh death case this man from jamshedpur is being accused of murder was executed in the philippines srn

जोगिंदर सिंह मौत मामले में जमशेदपुर के इस शख्स लगा रहा हत्या का आरोप, फिलीपींस में दिया घटना को अंजाम

मनीला में सिख व्यापारी की हत्या, मारे गये जोजो पर जमशेदपुर के सम्मी की हत्या का था आरोप, 11 जुलाई को गोली मार कर दी थी हत्या. जोगिंदर सिंह उर्फ जोजो से थी व्यापारिक रंजिश जिसकी मंगलवार को हुई हत्या

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jamshedpur News : जोगिंदर सिंह मौत मामला
Jamshedpur News : जोगिंदर सिंह मौत मामला
फाइल फोटो

जमशेदपुर : फिलीपींस की राजधानी मनीला के ताईताई में मंगलवार को एक और सिख व्यापारी जोगिंदर सिंह उर्फ जोजो की हत्या कर दी गयी. फिलीपींस समय के अनुसार, करीब 1.30 बजे अपराधियों ने जोजो को उस वक्त गोली मार दी, जब वह बाजार टाइल्स खरीदने गया था और गाड़ी पार्क कर रहा था. जोजो पर ही जमशेदपुर से मनीला व्यापार करने गये तरनजीत सिंह सम्मी उर्फ सैम की हत्या कराने का आरोप था.

जानकारी के अनुसार, उसकी व्यापारिक प्रतिद्वंद्विता जमशेदपुर से मनीला व्यापार करने गये तरनजीत से थी. बीते 11 जुलाई को फिलीपींस में तरनजीत की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. सम्मी और जोजो हत्याकांड में काफी समानताएं मिली हैं. बताया जाता है कि सम्मी के सिर और छाती से पिस्तौल सटाकर पांच गोली मारी गयी और जोजो के सिर में भी पांच गोलियां मारी गयीं.

सम्मी के साथ जोजो की थी व्यापारिक प्रतिद्वंद्विता :

सम्मी हत्याकांड की जांच कर रही फिलीपींस पुलिस के समक्ष सीतारामडेरा निवासी सम्मी के मामा कुलदीप सिंह ने जोगिंदर सिंह जोजो पर हत्या की सुपारी देने का शक जताया था. यहां यह संभावना है कि हत्यारों ने सम्मी की हत्या के लिये जिस राशि का सौदा किया था, उसे जोजो ने दिया, तो उसे भी ठिकाने लगा दिया गया. तरनजीत के मामा कुलदीप सिंह के अनुसार जोजो की तीन दुकानें थी, लेकिन सम्मी ने चार साल में छह दुकानें कर ली थी. व्यापार में पिछड़ने के बाद जोजो ने नौ जुलाई को सम्मी को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी.

तरनजीत का मनीला में हुआ था अंतिम संस्कार :

फिलीपींस में पूर्व में मारे गये सीतारामडेरा के युवक तरनजीत सिंह उर्फ सम्मी का अंतिम संस्कार मनीला के ताईताई में ही किया गया था. उसके पार्थिव शरीर को तीन दिनों तक पुलिस ने अपने पास रखा था, जिसके बाद तय स्थान पर परिवार को सुपुर्द कर अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पूरी करायी गयी थी. तरनजीत सिंह के मामा कुलदीप सिंह इस घटना के बाद मनीला में अपना करोड़ों का संपत्ति छोड़कर जमशेदपुर आ गये थे.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें