26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

आसमान से बरस रही आग, हीट वेव को लेकर जारी किया अलर्ट

आसमान से बरस रही आग, हीट वेव को लेकर जारी किया अलर्ट

मुंगेर. जेठ का महीना शुरू होने में अभी 10 से अधिक का समय बाकी है. लेकिन अभी से ही जिले का पारा 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. जबकि 28 से 30 किलोमीटर की रफ्तार से चल रही गर्म पछुआ हवाओं के कारण हीट वेव की संभावना को लेकर सरकार द्वारा भी अर्लट जारी कर दिया गया है. साथ ही हीट वेव को लेकर जिले के सभी अस्पतालों को 24 घंटे अलर्ट मोड में रहने का निर्देश दिया गया है.

मंगलवार को पारा पहुंचा 43 डिग्री सेल्सियस

पिछले एक सप्ताह से सूर्य देवता अपने पूरे रौद्र रूप में हैं. मंगलवार को अबतक का सबसे अधिकतम तापमान दर्ज किया गया. जो 43 डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं मंगलवार को पूरे दिन गर्म पछुआ हवा भी 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती रही. जो पूरे दिन लोगों को झुलसाती रही. मंगलवार को सुबह से ही सूर्य की किरणें तेज रही. वहीं दोपहर तक तापमान 43 डिग्री पहुंच गया. जिसके कारण शहर की सड़के भी पूरी तरह खाली रही. हालांकि शाम पांच बजे के बाद मौसम का मिजाज नरम होने के बाद लोग घरों से बाहर निकले.

हीट वेव को लेकर सरकार ने जारी किया अर्लट

राज्य में भीषण गर्मी और लू की चपेट को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलर्ट जारी कर दिया गया है. साथ ही आने वाले दिनों में और ज्यादा तापमान बढ़ने की संभावना को देखते हुए राज्य स्वास्थ्य विभाग ने सभी अस्पतालों को अलर्ट जारी कर दिया है. जिसके लिये सभी सिविल सर्जन व चिकित्सा पदाधिकारी को राज्य स्वास्थ्य समिति ने पत्र भेजकर व्यवस्था को और सुदृढ़ करने को कहा है. इसमें अस्पतालों में दवाई, डेडिकेटेड वार्ड, विशेषज्ञ चिकित्सकों के साथ पारा चिकित्सक कर्मियों की उपस्थिति और एंबुलेंस सुविधा से लेकर जांच संबंधी सभी प्रकार की तैयारियां सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है.

कहते हैं सिविल सर्जन

सिविल सर्जन डॉ विनोद कुमार सिन्हा ने बताया कि हीट वेव को लेकर सदर अस्पताल सहित सभी प्रखंड में हीट वेव वार्ड तैयार रखा गया है. साथ ही जिन स्वास्थ्य केंद्रों पर बेड की व्यवस्था है. वहां आइसोलेशन वार्ड को दुरूस्त रखते हुए सभी आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित रखने का निर्देश दिया गया है.

अस्पतालों में 24 घंटे सुविधा तैयार रखने का निर्देश

राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा लू से पीड़ित व्यक्तियों के लिए अस्पतालों में दवाई से लेकर जांच में हीटरेट, रेस्पेरटरी रेट के साथ बल्ड प्रेशर की जांच नियमित करने का निर्देश दिया गया है. लू से पीड़ित मरीजों का कंप्लीट ब्लड काउंटिंग, इलेक्ट्रोसाइट और इसीजी के अलावा लीवर व किडनी की जांच की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया है. सभी अस्पतालों में डेडिकेटेड वार्ड सुरक्षित रखने का भी निर्देश दिया है. जबकि डेडिकेटेड वार्ड में 24 घंटे चिकित्सकों एवं पारा चिकित्सक कर्मियों की रोस्टर प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया गया है. अधिक गर्मी और हीटवेव से बच्चे, बुजुर्ग, गर्भवती और धातृ महिलाओं को ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है. सिविल सर्जन को निर्देश दिया गया है कि सभी अस्पतालों में 24 घंटे ऑनकॉल अतिरिक्त विशेषज्ञ चिकित्सकों की उपलब्धता सुनिश्चित किया जाये. जिले में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ संबद्ध एंबुलेंस को 24 घंटे अलर्ट रखने की भी हिदायत दी गयी है. सभी अस्पतालों के सामान्य वार्ड में एसी और कूलर के साथ अन्य सुविधाएं सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें