28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पार्किंग के अभाव में सड़कों पर पार्क होती है वाहनें,दिन भर जाम से हलकान रहता है शहर

शहर में कहीं भी उचित व्यवस्था नहीं होने के कारण लोग अपने वाहन को मुख्य पथों के किनारे ही खड़ी करने को विवश होते हैं.ऐसे में दिन के दस बजते-बजते शहर का अधिकांश हिस्सा प्रत्येक दिन जाम की चपेट मे आ जाता है.

किशनगंज. वैसे तो किशनगंज को जिले का दर्जा मिले करीब 34 साल हो चुके हैं.इस अवधि में जिले की आबादी भी काफी बढ़ी है,आबादी में बढ़ोत्तरी व वाहनों की संख्या में दिन प्रतिदिन हो रहे इजाफा के बीच शहरी इलाके में पार्किंग की व्यवस्था में कोई भी बदलाव नहीं हो सका है.लंबी अवधि बीतने के बाद भी शहर में एक भी स्थायी पार्किंग की व्यवस्था नहीं हो सकी है.एक-दो स्थान पर पार्किंग के लिए अस्थायी स्थानों का चयन किया भी गया तो वहां जगह का अभाव एक बड़ी समस्या है.ऐसे में अपने काम से जिले में आने वाले लोगों को वाहन खड़ी करने के लिए स्थान की तलाश करना किसी मुसीबत से कम नजर नहीं है.पार्किंग के लिए शहर में कहीं भी उचित व्यवस्था नहीं होने के कारण लोग अपने वाहन को मुख्य पथों के किनारे ही खड़ी करने को विवश होते हैं.ऐसे में दिन के दस बजते-बजते शहर का अधिकांश हिस्सा प्रत्येक दिन जाम की चपेट मे आ जाता है.यह समस्या सिर्फ एक दिन की नहीं है.प्रत्येक दिन लोग इसी समस्या से जूझते हैं.लेकिन मूल समस्या के समाधान की दिशा में अबतक कोई भी प्रयास नहीं किया गया है.एक दो आंशिक प्रयास हुए भी तो वो विफल हो चुके हैं.ऐसे में जरूरत इस बात की है कि इस समस्या के स्थायी समाधान कब होगा?

प्रत्येक दिन शहर में आते हैं दस हजार वाहन

आंकड़े बताते हैं कि जिला मुख्यालय में प्रत्येक दिन दस हजार छोटे-बड़े वाहन आते हैं.लेकिन इतने वाहनों को खड़ा करने की कोई भी व्यवस्था शहर में नहीं है.ऐसे में लोग सड़कों के किनारे दुकानों के सामने वाहनों को पार्क कर देते हैं.

भीड़-भाड़ वाले इलाके में खड़े रहते सैकड़ों बाइक

अवैध पार्किंग का सबसे बड़ा नजारा जिला मुख्यालय में स्थित मॉल, नर्सिंग होम,के आसपास दिख जाता है.इसके आलावे चुरीपट्टी,क़ाग़ज़िया पट्टी,रमजान पूल,चौक बाजार,कैलटेक्स चौक,गांधी चौक,महावीर मार्ग,धर्मशाला रोड, एनएच के किनारे गाड़ियों की पार्किंग की जाती है.अलावा इसके होटलों के आगे भी अवैध पार्किंग का नजारा दिखता है.

दिन और भीड़-भाड़ के समय शहर में प्रवेश करती है भारी वाहनें

किशनगंज शहर में यातायात की ऐसी स्थिति है कि दिन के समय भी बड़े-बड़े ट्रक, ट्रैक्टर मुख्य बाज़ारों से होकर गुजरती ही नहीं बल्कि लोडिंग-अनलोडिंग का भी कार्य होता है.जो कि शहर को जाम में तब्दील करने में काफी है.

शहर में ट्रैफिक व्यवस्था बदहाल

शहर में ट्रैफिक व्यवस्था का बुरा हाल है.वाहन चालक हर दिन ट्रैफिक नियम तोड़ते हैं और पूरा शहर जाम से त्रस्त हो जाता है.सड़क जाम अब रोजमर्रा की बात हो गयी है.शहर में अब भी वाहनों की रफ्तार पर कोई अंकुश नहीं है, पकड़े जाने पर वाहन चालक जुर्माना भरते हैं फिर दोबारा वही गलती करते हैं.

सड़कों पर ट्रैफिक नियमों की उड़ती है धज्जियां

बड़े वाहन कैसे नियम तोड़ते हैं. तो इसका सिलसिला सुबह से ही शुरू हो जाता है.वाहन चालक भी शार्ट रास्ता अपनाने के लिए बड़े वाहन, ट्रक मालवाहक को भीड़ भाड़ वाले सड़कों पर लेकर ही चलते हैं जिससे शहर में हर दिन जाम की स्थिति बन रही है.शुक्रवार को शहर के कैल्टेक्स चौक और धर्मगंज चौक,महावीर मार्ग,धर्मशाला रोड में भीषण जाम की स्थिति बनी रही और राहगीर लगातार परेशान होते दिखे.शहर में बेतरतीब तरीके से सड़कों पर वाहन खड़े किए जाते हैं जो जाम की समस्या का सबसे बडा कारण है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें