25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गहराता जा रहा है जलसंकट, युवाओं में आंदोलन की सुगबुगाहट तेज

बेगूसराय और खास करके बरौनी औद्योगिक और अंचल क्षेत्र में पेप्सिको प्लांट के कारण लगातार गिरते जा रहे भूजल स्तर को लेकर युवाओं में आंदोलन की सुगबुगाहट तेज हो गयी है.

बीहट.

बेगूसराय और खास करके बरौनी औद्योगिक और अंचल क्षेत्र में पेप्सिको प्लांट के कारण लगातार गिरते जा रहे भूजल स्तर को लेकर युवाओं में आंदोलन की सुगबुगाहट तेज हो गयी है. जल संकट को ले कर हर्ल टाउनशीप मैदान में रविवार के दिन युवाओं की एक अहम बैठक हुई. बैठक का नेतृत्व टीम प्रियम के प्रियम रंजन कर रहे थे. बैठक में बीहट नगर परिषद के उप मुख्य पार्षद ऋषिकेश कुमार, जिला कबड्डी संघ के चेयरमैन श्याम नंदन सिंह पन्नालाल, सोशल मीडिया क्रिएटर नीतीश चौरसिया, संजय कुमार, मुकेश पटेल, राज कुमार, अंश राज, अंकित, रितेश, प्रद्युमन सहित बड़ी संख्या युवा शामिल थे. बैठक में प्रियम रंजन ने कहा कि पेप्सी प्लांट के चलते हमारे यहां का भूगर्भीय जल समाप्त हो जायेगा. इस प्लांट में रोज 40 लाख बोतल पानी एवं कोल्डड्रिंक पैक होगा, जिसमें एक करोड़ लीटर से भी अधिक पानी की रोज बर्बादी होगी. इससे पूर्व हाजीपुर में भी प्लांट लगा था, जहां भूगर्भीय जल समाप्त होने के कारण बॉटलिंग प्लांट को बंद करना पड़ा था, अब यही हाल बेगूसराय का भी होगा. जिसकी झलक बरौनी औद्योगिक और अंचल क्षेत्रों में दिखना शुरू भी हो गया है. उन्होंने कहा जिस पानी से लाखों लोगों एवं पशुओं की प्यास बुझाने और किसानों के खेतों में पानी का इंतजाम हो सकता है, वहीं बेशकीमती पानी जमीन से दोहन करके शीतल पेय की बाॅटलिंग में बर्बाद किया जा रहा है. इन कंपनियों द्वारा प्रतिदिन करोंड़ों लीटर पानी निकालने से पेप्सिको प्लांट के आसपास के गांवों का भूगर्भ जल बहुत ही कम होता जा रहा है. इसी कारण केरल के प्लाचीमडा गांव में कोकाकोला संयंत्र को बंद कराने के लिए आंदोलन हुआ था. भारत के कई ऐसे राज्य हैं,जहां पर कोल्ड ड्रिंक्स बनाने वाली कंपनियां बैन कर दी गयी है, लेकिन यहां नौकरी का प्रलोभन देकर युवाओं को अलग दिशा में ले जाया गया है. वहीं नगर परिषद के उपमुख्य पार्षद ऋषिकेश कुमार ने कहा कि जिस तरह से बेगूसराय मे प्राकृतिक संपदा के साथ खिलवाड़ किया गया है, आने वाले समय में यहां जलस्तर में भारी गिरावट होगी और बेगूसराय भयंकर जलत्रासदी का शिकार होगा. इस संबंध में प्रबंधन कुछ भी बताने को तैयार नहीं है. पर्यावरण को लेकर काम करने वाली सामाजिक संस्था साइकिल पे संडे के अंशु कुमार ने कहा कि प्रकृति द्वारा दिये संसाधनों को बचाने के लिए हम सबों को आगे आना चाहिये. जिला कबड्डी संघ के चेयरमैन श्याम नंदन सिंह पन्नालाल ने जनहित में चरणबद्ध आंदोलन करने को लेकर अपनी बात रखी. इसके अलावा मुकेश पटेल, संजय कुमार, राजकुमार ने जल दोहन के लिए पेप्सी प्लांट को जिम्मेदार बताते हुए युवाओं को रोजगार पर पेप्सी प्रबंधन को घेरा.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें