24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Lok Sabha Election 2024 : पीएम मोदी ने कहा-योजनाओं का लाभ देने में हमने धर्म नहीं पूछा, यह कांग्रेस का सपना है

प्रधानमंत्री ने नासिक में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नकली शिवसेना का कांग्रेस में विलय हो जाएगा और इससे सबसे ज्यादा दुख बाला साहब को होगा.

Lok Sabha Election 2024 : लोकसभा चुनाव 2024 में कांग्रेस बुरी तरह से हारने वाली है, चुनाव परिणाम आने के बाद इनकी स्थिति ऐसी हो जाएगी कि विपक्ष का दर्जा पाना भी मुश्किल हो जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उक्त बातें महाराष्ट्र के नासिक जिले में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने कांग्रेस और शिवसेना यूबीटी पर प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस यह चाहती है कि छोटी-छोटी पार्टियों का उसमें विलय हो जाए, ताकि जब चुनाव परिणाम आए, तो इन्हें कम से कम विपक्ष का दर्जा तो मिल जाए.

नकली शिवसेना का कांग्रेस में विलय हो जाएगा

पीएम मोदी ने शिवसेना यूबीटी पर प्रहार करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि नकली शिवसेना का कांग्रेस में विलय हो जाएगा, लेकिन जिस दिन ऐसा होगा मुझे बालासाहब ठाकरे की सबसे ज्यादा याद आएगी. वे यह कहा करते थे कि जिस दिन शिवसेना कांग्रेस हो गई उस दिन, शिवसेना बेकार हो जाएगी, समाप्त हो जाएगी. यह स्थिति बाला साहब ठाकरे को दुखी करने वाली है. नकली शिवसेना ने उनके सपनों को चूर-चूर कर दिया है. बाला साहब का सपना था कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बने. उनका सपना था कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 समाप्त हो. लेकिन जब ऐसा हुआ तो नकली शिवसेना अनाप-शनाप बोल रही है. कांग्रेस ने राम मंदिर का निमंत्रण अस्वीकार कर दिया, नकली शिवसेना ने भी ऐसा ही किया. यह कांग्रेस के पाप में भागीदार है.

Also Read : Amit Shah: ‘अरविंद केजरीवाल के लिए बुरी खबर, 2029 के बाद भी पीएम मोदी करेंगे नेतृत्व’, खास इंटरव्यू में बोले अमित शाह

Lok Sabha Election 2024 : असदुद्दीन ओवैसी ने कहा-पीएम मोदी ने हमेशा मुसलमानों के प्रति नफरत फैलाई

CAA के तहत 14 लोगों को मिली भारतीय नागरिकता, सर्टिफिकेट का पहला सेट जारी

कांग्रेस सिर्फ अपने वोट बैंक को लाभ देना चाहती है

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस यह चाहती है कि देश के बजट का 15 फीसदी अल्पसंख्यकों पर खर्च किया जाए. लेकिन कांग्रेस के लिए अल्पसंख्यक का मतलब उनका प्रिय वोट बैंक है. लेकिन धार्मिक आधार पर बजट का बंटवारा खतरनाक है. डॉ बाबासाहेब अंबेडकर धर्म-आधारित आरक्षण के खिलाफ थे, लेकिन कांग्रेस धर्म के आधार पर आरक्षण देना चाहती है. उन्होंने कहा कि यह देश के लिए बहुत खतरनाक विचार है. मैं उन्हें यह बता देना चाहता हूं कि देश में बजट का बंटवारा धर्म के आधार पर नहीं होगा. मेरी सरकार ने धर्म के आधार पर कोई विभाजन नहीं किया है, जो योजनाएं हैं वो सबके लिए हैं, किसी को लाभ देते वक्त उसका धर्म नहीं पूछा जाता है. कांग्रेस को सिर्फ अपने वोटबैंक की चिंता है, यही वजह है कि इन चार चरणों का जो चुनाव हो चुका है, उसमें कांग्रेस की स्थिति बहुत खराब है. मैं आपके सामने आज आया हूं तो तीसरे कार्यकाल के लिए आपका आशीर्वाद मांगने आया हूं. आपका साथ अगर हमें मिलेगा तो देश विकास के पथ पर चलता रहेगा.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें