विधानसभा चुनाव 2019 : हर दिन दो घंटे हवा में बिता रहे झारखंड के चार दिग्गज

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सुनील चौधरी
रांची : प्रथम चरण का चुनाव समाप्त हो गया. अभी चार चरणों के चुनाव होने बाकी हैं. दूसरी ओर झारखंड के चार प्रमुख दलों के नेता धुआंधार चुनाव प्रचार कर रहे हैं. हर दिन करीब दो घंटे का उनका समय हवा (हेलिकॉप्टर) में बीत रहा है. इन नेताओं में मुख्यमंत्री रघुवर दास, झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी और आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो शामिल हैं.
मुख्यमंत्री रघुवर दास भाजपा प्रत्याशियों के लिए लगातार सभा कर रहे हैं. वहीं झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन अपनी पार्टी के साथ-साथ गठबंधन दलों के प्रत्याशियों के लिए भी चुनावी सभा को संबोधित कर रहे हैं. झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने राज्य की सभी 81 सीटों पर प्रत्याशी उतारा है. वह लगातार सभा कर रहे हैं. वहीं आजसू प्रमुख सुदेश महतो भी प्रत्याशियों के लिए औसतन हर दिन तीन सभा कर रहे हैं.
रोज होती हैं चार से पांच सभाएं : मुख्यमंत्री रघुवर दास हेलीकॉप्टर से प्रचार करते हैं. एक दिन में वह चार-चार सभा को संबोधित करते हैं. एक सभा स्थल से दूसरे सभा स्थल तक जाने में 20 से 30 मिनट का समय लगता है. चार-चार सभा स्थलों पर जाने में औसतन दो घंटे का समय इन्हें हेलीकॉप्टर में ही बिताना पड़ता है. श्री दास खुद भी जमशेदपुर पूर्व से चुनाव लड़ रहे हैं. अपने क्षेत्र से ज्यादा उन्हें पार्टी के अन्य प्रत्याशियों के लिए समय देना पड़ता है. कई बार तो यह स्थिति आती है कि हेलीकॉप्टर में ही नाश्ता करना पड़ता है.
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन एक दिन में चार से पांच सभा कर रहे हैं. झामुमो के 43 प्रत्याशी मैदान में हैं. जिसमें हेमंत सोरेन दो सीट पर खड़े हैं. अपनी सीट के अलावा 41 सीटों पर वह लगातार प्रचार कर रहे हैं. साथ ही गठबंधन के प्रत्याशियों के पक्ष में भी प्रचार कर रहे हैं. वह भी हेलीकॉप्टर से ही सभा करने जाते हैं. एक दिन में वह दो से ढाई घंटे तक हवा में बीता रहे हैं.
झाविमो के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने सभी 81 सीटों पर प्रत्याशियों को उतारा है. वह खुद भी राजधनवार से चुनाव लड़ रहे हैं. श्री मरांडी की सभा भी 11 बजे से जो आरंभ होती है, तो अलग-अलग स्थानों में तीन से चार सभा करते हैं. शाम चार बजे तक वह लौट आते हैं. उनका भी दो घंटे का समय हवा में ही बीत रहा है.
आजसू प्रमुख सुदेश महतो ने 53 सीटों पर प्रत्याशियों को उतारा है. वह खुद भी सिल्ली विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं. पर पार्टी के प्रत्याशियों के समर्थन में वोट मांगने के लिए वह तीन से चार सभा कर रहे हैं. वह भी हेलीकॉप्टर से ही सभा स्थल पर जा रहे हैं. औसतन दो घंटे का समय उनका हवा में ही बीत रहा है.
चुनावी बोल
पहले चरण में भाजपा की स्थिति मजबूत
पहले चरण के मतदान के रुझान से जानकारी मिली है कि इनमें भाजपा की स्थिति सर्वाधिक मजबूत है. 13 में से नौ-दस सीट पर भाजपा की पक्की जीत का भरोसा है. गणेश महाली पिछली बार भी चुनाव लड़े थे. इन्हें जीत से नौ सौ वोट कम आये थे, इस बार क्षेत्र की जनता उन्हें 29 हजार वोटों से जितायेगी.
राजनाथ सिंह,
रक्षा मंत्री (आदित्यपुर में)
कांग्रेस समस्या, भाजपा समाधान करती है
कांग्रेस पार्टी समस्याएं खड़ी करती है और भाजपा उसका समाधान करती है. राहुल गांधी ने राफेल मामले में प्रधानमंत्री को चोर तक कह दिया. लेकिन सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद कोर्ट से राहुल गांधी ने माफी मांगी. डबल इंजन की सरकार ने राज्य व देश का विकास किया. आगे भी भाजपा की डबल इंजन की सरकार से ही देश एवं राज्य का भला होगा.
रविशंकर, केंद्रीय मंत्री
( कोडरमा में)
वोटरों ने बुलेट का जवाब िदया, भाजपा ही आयेगी
पहले चरण में मतदाताआें ने बुलेट का जवाब दे दिया है. पहले चरण के रुझान से साफ हाे गया है कि झारखंड में एक बार फिर भाजपा स्थिर सरकार देगी. रघुवर दास की नेतृत्ववाली सरकार ने काफी काम किये हैं. अभी आैर काम किया जाना बाकी है. यह तभी संभव है, जब 2014 की तरह भाजपा की डबल इंजनवाली सरकार बने.
धर्मेंद्र प्रधान, केंद्रीय मंत्री (बिष्टुपुर में)
डबल इंजन की सरकार में जनता का डिब्बा नहीं
डबल इंजन की सरकार में इंजन तो है, लेकिन जनता के लिए डिब्बा नहीं है. इस सरकार से जनता को कोई लाभ नहीं होनेवाला है. गरीब आदिवासी की जमीन का अधिग्रहण कर विस्थापित करने का काम भाजपा सरकार ने किया. सरकार रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट व खनिज को भी पूंजीपतियों के हवाले कर रही है.
हेमंत सोरेन, झामुमो (कोडरमा में)
यह कैसी सरकार, हो रही है भूख से मौत
यह कैसी सरकार है, जहां भूख से मौत हो रही है. आधार लिंक नहीं होने का बहाना बनाकर साढ़े ग्यारह लाख राशन कार्ड रद्द कर दिये गये. ढाई लाख लोगों की पेंशन बंद कर दी गयी. हाथी उड़ाने के नाम पर नौ सौ करोड़ से ज्यादा खर्च कर दिये गये, पर कोई उद्योग नहीं लगा.
बाबूलाल मरांडी, झाविमो ( बागबेड़ा में)
जनमानस के अरमान पर फिरा पानी
आज प्रदेश में अलग वातावरण तैयार हो गया है. जो पहले कुश्ती लड़ने की बात कहते थे, आज दोस्ती करने की बात कह रहे हैं. अलग राज्य गठन को लेकर प्रदेश के जनमानस में अलग अरमान था, लेकिन शासन ने अरमान पर पानी फेरने का काम किया है. झामुमो का चरित्र झूठ व लूट का है.
सुदेश महतो, आजसू अध्यक्ष (राजनगर के बडाकुनाबेडा गांव स्थित हाट मैदान में)
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें