1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. in kasturba gandhi residential school girl students are not getting food warden ban on providing residential facility srn

कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में छात्राओं को नहीं मिल रहा भोजन, आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने पर वार्डेन ने लगायी रोक

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में छात्राओं को नहीं मिल रहा भोजन
कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में छात्राओं को नहीं मिल रहा भोजन
सांकेतिक तस्वीर

गढ़वा : गढ़वा जिले के 22 आवासीय विद्यालयों में खाद्य आपूर्ति की निविदा प्रक्रिया पूरी नहीं होने के कारण 10वीं व 12वीं कक्षा में नामांकित करीब दो हजार छात्राओं को भोजन नहीं मिल रहा है. इसके कारण विद्यालय खुलने के बावजूद इन विद्यालयों के वार्डेन ने छात्राओं को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने पर रोक लगा दी है. इनमें जिले के 14 कस्तूरबा विद्यालय व चार झारखंड आवासीय विद्यालय शामिल है. ऐसी परिस्थिति में विद्यालय खुलने के पूर्व में ही कस्तूरबा विद्यालय के सभी वार्डेन ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को पत्र लिखकर पूरे मामले से अवगत कराया जा चुका है़

साथ ही विद्यालय खुलने पर इन छात्राओं को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने के विषय पर दिशा-निर्देश भी मांगा है. लेकिन इस मामले पर विद्यालय प्रबंधन को अब तक किसी भी प्रकार का दिशा निर्देश जारी नहीं किया गया है. इसके कारण जिले के इन छात्राओं को भोजन के साथ ही आवासीय सुविधा से वंचित होना पड़ रहा है. वहीं उनकी पढ़ाई भी बाधित हो रही है.

जबकि आगामी अप्रैल मई महीने में इनका वार्षिक परीक्षा भी होनी है. इन्ही कारणों से जिले के कई कस्तूरबा विद्यालय अब तक बंद है. कहीं कहीं विद्यालय के नजदीकी क्षेत्रवाले छात्राओं को बुलाकर सिर्फ पढ़ाया जा रहा है. वहीं कई विद्यालय के खुलने पर भी रोक लगाये जाने के कारण सूदूरवर्ती गांवों की छात्राएं विद्यालय नहीं पहुंच रही हैं. विभागीय रिपोर्ट के अनुसार वित्तीय वर्ष 2019-20 में कस्तूरबा विद्यालय में खाद्य-अखाद्य सामग्रियों की निविदा जुलाई 2020 में ही समाप्त हो चुकी है.

लेकिन वैश्विक महामारी कोरोना के कारण विद्यालय बंद रखे जाने के निर्देश के बाद पुनः नये वित्तीय वर्ष के लिए निविदा प्रक्रिया पूरा नहीं की जा सकी और सरकार ने पिछले 18 जनवरी से आवासीय विद्यालयों को खोलने का निर्देश जारी कर दिया गया. लेकिन जिले के इन आवासीय विद्यालयों में नामांकित छात्राओं को खाद्य सामग्रियों की व्यवस्था को लेकर कोई पहल नहीं की गयी.

कस्तूरबा विद्यालय में संचालित होता है झारखंड आवासीय विद्यालय

विभागीय आंकड़ो से मिली जानकारी के अनुसार जिले के 14 प्रखंड चिनिया, गढ़वा, रंका, रमकंडा, भंडरिया, कांडी, धुरकी, भवनाथपुर, नगरउंटारी, खरौंधी, डंडई, मंझिआंव, रमना व मेराल में कस्तूरबा विद्यालय संचालित होता है. साथ ही भवन के अभाव में गढ़वा, कांडी, भवनाथपुर व एक अन्य प्रखंड के कस्तूरबा विद्यालय में ही जिले के चार झारखंड आवासीय विद्यालय का संचालन किया जाता है

एक सप्ताह में निविदा का निष्पादन हो जायेगा : डीइओ

इस संबंध में जिला शिक्षा पदाधिकारी आरके मंडल ने बताया कि इसके लिए निविदा निकाल दी गयी है़ एक सप्ताह के अंदर आपूर्ति शुरू कर दी जायेगी़ तब तक के लिये विद्यालय में जो अवशेष राशि है, उससे काम चलाया जा सकता है़

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें