1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. 4 criminal of shooter aman singh arrested for demanding extortion from dr sameer dhanbad ssp assured of security smj

डॉ समीर से रंगदारी मांगने वाले अमन सिंह के चार गुर्गे गिरफ्तार, धनबाद SSP ने सुरक्षा का दिया भरोसा

धनबाद के डॉ समीर से रंगदारी मांगने के मामले में शूटर अमन सिंह गिरोह के चार अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. साथ ही चार मोबाइल भी जब्त किया गया, जिससे डॉ समीर को फोन और वाट्सएप कॉल कर रंगदारी मांगी गयी थी. वहीं, एसएसपी ने डॉ समीर को सुरक्षा का भरोसा दिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
jharkhand news: डॉ समीर से रंगदारी मामले में चार अपराधियों की गिरफ्तारी की जानकारी देते धनबाद SSP.
jharkhand news: डॉ समीर से रंगदारी मामले में चार अपराधियों की गिरफ्तारी की जानकारी देते धनबाद SSP.
प्रभात खबर.

Jharkhand Crime News: शूटर अमन सिंह के चार गुर्गों को गिरफ्तार कर धनबाद पुलिस ने प्रसिद्ध सर्जन डॉ समीर कुमार से रंगदारी मांगने के मामले का उद्भेदन किया है. पुलिस ने गोविंदपुर से अमन सिंह के परिचित यूपी आजमगढ़ निवासी वीरबहादुर सिंह उर्फ वीरू, झरिया ऐना इस्लामपुर से बंटी खान, कोलकाता तिलजला निवासी सिराजुद्दीन और गोविंदपुर गायडहरा निवासी इलियास अंसारी को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने चार मोबाइल भी जब्त किया है, जिससे डॉ समीर को फोन और वाट्सएप कॉल कर रंगदारी मांगी गयी थी. इस बात की जानकारी एसएसपी संजीव कुमार ने शुक्रवार को अपने कार्यालय में पत्रकारों को दी.

SSP ने डॉ समीर से की बात

इस दौरान पत्रकारों के सवाल के जवाब पर एसएसपी श्री कुमार ने डॉ समीर को फोन से बात की. उन्हें बताया गया कि आपसे रंगदारी मांगने वाले चार अपराधी गिरफ्तार कर लिये गये हैं और अब उन्हें जेल भेजा जा रहा है. इस पर डॉ समीर ने उन्हें बधाई देते हुए कहा कि फिलहाल वह मानसिक तनाव में हैं और अपने परिवार के साथ समय बिता रहे हैं. 10 से 15 दिनों में वह लौट आयेंगे. बातचीत के दौरान एसएसपी ने उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिलाते हुए कहा कि धनबाद पुलिस उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी लेता है. इस दौरान ग्रामीण एसपी रिष्मा रमेशन, डीएसपी अमर कुमार पांडेय व बैंक मोड़ थाना प्रभारी डॉ पीके सिंह मौजूद थे.

वीर बहादुर के पास पहुंचता था रंगदारी का पैसा

एसएसपी संजीव कुमार ने बताया कि सभी अपराधी अलग-अलग स्थान के थे. जिला पुलिस के साथ ही टेक्निकल टीम लगातार काम कर रही थी. पुलिस ने एक-एक कर चारों अपराधियों को पकड़ लिया. वीर बहादुर अमन सिंह का पुराना परिचित था. गोविंदपुर में ट्रांसपोर्टिंग का धंधा करता है. अमन सिंह ने ही तीन साल पहले इसे धनबाद शिफ्ट कराया था. वीर बहादुर पहले ड्राइवर बना और उसके बाद ट्रांसपोर्टिंग और कोयला का धंधा शुरू किया. रंगदारी से आने वाला रुपया इसी के पास पहुंचता था. इसके कई प्रमाण मिले हैं. पुलिस ने उसके बैंक खाताें की पूरी जानकारी लेने के लिए भोपाल हेड क्वार्टर से संपर्क किया है. जल्द ही पूरी जानकारी मिल जायेगी.

जेल में अमन के साथ रह चुका है इलियास

एसएसपी के अनुसार, जेल में इलियास और अमन सिंह साथ में रहे चुके हैं. इसलिए इलियास अमन के लिए काम करता था. इलियास का दोस्त बंटी डॉ समीर की पूरी जानकारी और गतिविधि बताता था. बंटी दोनों के बीच डील करवा कर कुछ रुपये लेना चाहता था. बंटी और इलियास ही डॉ समीर को रंगदारी के लिए फोन करते थे. दोनों के मोबाइल में एक ऐसा एप मिला है, जिससे कॉल करने के बाद इंटरनेशनल कॉल दिखता है. इन दोनों को अपने-अपने घरों से गिरफ्तार किया गया. इलियास पर पहले से आधा दर्जन और बंटी पर तीन मामले दर्ज हैं. इस मामले में कोलकाता तिलजला से पकड़े गये सिराजुद्दीन से भी कई जानकारी मिली है. सिराजुद्दीन फर्जी नाम से सिम कार्ड खरीद कर अमन सिंह को मुहैया करवाता था. उसी सिम का प्रयोग रंगदारी मांगने के लिए किया जाता था, जबकि सिराजुद्दीन ही प्रिंस खान को सिम उपलब्ध करवाता था. पुलिस गिरफ्तार चारों अपराधियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी.

अमन को दूसरे जेल में शिफ्ट करने की प्रक्रिया शुरू

एसएसपी ने बताया कि अमन सिंह को राज्य के दूसरे जेल में शिफ्ट करने के लिए कोर्ट में अर्जी दी गयी है. कोर्ट से अनुमति मिलने के बाद उसे दूसरे जेल में शिफ्ट किया जायेगा. जेल के अंदर कई सामान पहुंचते थे. इसके लिए जिला पुलिस बल व पदाधिकारी को जेल गेट के बाहर तैनात किया गया है. वहां बिना कोर्ट की अनुमति से कोई भी सामान अंदर नहीं ले जा पायेगा. सभी मुलाकातियों के सामान की पूरी जांच की जा रही है.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें