21.1 C
Ranchi
Wednesday, February 21, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeबिहारपटनाPatna: कुख्यात अपराधी मोहन ने दोस्ती में किया दगा, जिसके साथ जुर्म की दुनिया में रखा कदम, उसी की...

Patna: कुख्यात अपराधी मोहन ने दोस्ती में किया दगा, जिसके साथ जुर्म की दुनिया में रखा कदम, उसी की कर दी हत्या

पुलिस ने बताया कि गनौरी यादव मोहन के गैंग का ही सदस्य था और साथ में ही मिलकर चोरी और लूट करता था. गनौरी से मोहन का पैसे के बंटवारे को लेकर विवाद हो गया था. इसी विवाद के कारण बीते साल जून महीने में मोहन ने गनौरी की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

पटना. कुख्यात मोहन चोर गिरोह के शातिरों की गिरफ्तारी के बाद मंगलवार को एसपी पूर्वी संदीप सिंह और एएसपी सदर काम्या मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. मोहन की निशानदेही पर पत्रकार नगर थाने की पुलिस ने दो ज्वेलरी दुकानदारों को गिरफ्तार कर लिया है. कुख्यात मोहन के साथ-साथ पुलिस ने राजीव नगर रोड तीन के धीरज कुमार, सुनील कुमार, बाबा चौक के रौशन पांडेय को गिरफ्तार किया है. इन शातिरों के पास से पुलिस ने एक कार, एक बाइक, चोरी करने वाला औजार, मेड इन यूएसए तलवार, सात फोन सहित अन्य सामान बरामद किया है. गिरफ्तार शातिरों से पूछताछ के बाद सभी को जेल भेज दिया गया.

दोस्त की कर दी थी हत्या 

पुलिस ने बताया कि गनौरी यादव मोहन के गैंग का ही सदस्य था और साथ में ही मिलकर चोरी और लूट करता था. गनौरी से मोहन का पैसे के बंटवारे को लेकर विवाद हो गया था. इसी विवाद के कारण बीते साल जून महीने में मोहन ने गनौरी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. अगमकुआं थाने में इसको लेकर केस दर्ज किया गया था.

गिरफ्तारी के लिए चल रही छापेमारी

एसपी पूर्वी संदीप कुमार ने कहा कि दोनों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है. जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा. मोहन और उसके गैंग की तलाश रामकृष्ण नगर, कंकड़बाग, अगमकुआं, पत्रकार नगर, जक्कनपुर, शास्त्रीनगर, बेउर, पाटलीपुत्र और गर्दनीबाग सहित कई थाने की पुलिस को थी. मोहन और उसके गिरोह के दो और कुख्यात बाबा उर्फ घंटी और कुंदन फरार चल रहे हैं.

वर्षों से बाप-बेटा खरीद रहे थे चोरी की ज्वेलरी

मिली जानकारी के अनुसार मोहन गिरोह चोरी के गहनों को ज्वेलरी दुकानदार को बेच देता था. यह पूरा मामला कमीशन के खेल पर चल रहा था. दोनों दानापुर कैंट के रहने वाले हैं और वहीं ज्वेलरी दुकान भी चलाते हैं. कुख्यात मोहन ने पुलिस को बताया कि उसका गैंग बीते तीन साल से चोरी की ज्वेलरी अभिषेक और सुनील को ही बेचता आया है. गिरफ्तार ज्वेलरी दुकानदार सुनील गुप्ता अपने बेटे अभिषेक गुप्ता के साथ मिलकर चोरी की ज्वेलरी खरीदता था. अभिषेक और सुनील के ठिकाने से पुलिस ने पांच लाख से अधिक मूल्य के सोने के गहने, करीब दो लाख के चांदी के गहनों को बरामद किया है.

Also Read: पटना में युवक की गोली मारकर हत्या, सट्टेबाजी के पैसे के विवाद में पार्टनर ने किया मर्डर
घटना को अंजाम देने के बाद भाग जाता था कोलकाता

जांच में यह बात आयी कि सुनील गुप्ता लंबे समय से चोरी की ज्वेलरी खरीदने का धंधा करता है. सुनील हर बार ठिकाना बदल बदल कर चोरों से मिलता था और ज्वेलरी लेता था. चोरों का गैंग चलाने वाले मोहन और रौशन ही गैंग के सरगना हैं. मोहन और रौशन दोनों अव्वल दर्जे के अय्याश हैं. बड़ी घटना को अंजाम देने के बाद दोनों अय्याशी के लिए कोलकाता चले जाते थे. रौशन पूर्व में भी गिरफ्तार हो चुका है. पुलिस ने उसे कोलकाता जाने वाली बस से गिरफ्तार किया था.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें