1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. nepali terrorist phoolhasan ansari made indian fake aadhaar card and resident muzaffarpur bihar avh

नेपाली आतंकी फूलहसन अंसारी फर्जी आधार कार्ड से भारत में बना अंकित पटेल, पुलिस के खुलासे के बाद मचा हड़कंप

पर्सा पुलिस प्रवक्ता सह पुलिस नायव उपरीक्षक (डीएसपी) ओमप्रकाश खनाल के अनुसार अंसारी दो वर्ष पूर्व भारत नेपाल सीमा से सटे वीरगंज के वार्ड संख्या 4 स्थित बिर्ता बजार में व घंटाघर के पास सब्जी बजार में बम बिस्फोट का मुख्य सरगना था.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नेपाली आतंकी फूलहसन अंसारी फर्जी आधार कार्ड से भारत में बना अंकित पटेल
नेपाली आतंकी फूलहसन अंसारी फर्जी आधार कार्ड से भारत में बना अंकित पटेल
Twitter

सुदीप भारती: नेपाल में बम विस्फोट के आरोपित रहे आतंकी फूलहसन अंसारी को सोमवार को भारत सीमा से सटे नेपाल के पर्सा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. वीरगंज महानगरपालिका वार्ड संख्या-24 के निवासी रहे 33 वर्षीय फूलहसन अंसारी उर्फ (विवेक सिंह) की अपराध की लंबी सूची है. नेपाल में वह हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट चुका है

जेल से निकलने के बाद वह बम विस्फोट, डकैती, हत्या के मामले में नेपाल पुलिस के फरारी सूची में था. पर्सा पुलिस प्रवक्ता सह पुलिस नायव उपरीक्षक (डीएसपी) ओमप्रकाश खनाल के अनुसार अंसारी दो वर्ष पूर्व भारत नेपाल सीमा से सटे वीरगंज के वार्ड संख्या 4 स्थित बिर्ता बजार में व घंटाघर के पास सब्जी बजार में बम बिस्फोट का मुख्य सरगना था.

इसी घटना में संलग्न वीरगंज के ही युनूस अंसारी, जौवाद अंसारी व सद्दाम अंसारी को चार जिंदा कारतूस व विस्फोटक पदार्थ के साथ गिरफ्तार किया गया था. वहीं मुख्य अभियुक्त फूलहसन खुली सीमा का फायदा उठाकर भारत भाग गया था. जहां वह नाम बदल कर विभिन्न आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहा था.

फूलहसन ने पूर्वी चंपारण में बनाया अंकित पटेल के नाम से आधार कार्ड- नेपाल के कुख्यात अपराधी की सूची में रहे फूलहसन पूर्वी चंपारण में अपने नाम के साथ ही पहचान को बदल कर अंकित पटेल के नाम से भारतीय आधार कार्ड बना कर मुजफ्फरपुर में रह रहा था. जानकारी के अनुसार वह रह तो रहा था मुजफ्फरपुर में, लेकिन उसने आधार में पता पूर्वी चंपारण का दिया था. उसने यह आधार कार्ड भी मुजफ्फरपुर में ही बनवाया था. यहां वह ठिकाना बदल-बदल कर रह रहा था.

पुलिस इस बंदु पर आगे जांच कर सकती है कि उसको पता बदलने व आधार कार्ड बनवाने में किसने सहयोग किया था और मुजफ्फरपुर या पूर्वी चंपारण के किस केंद्र पर उसका आधार कार्ड बना था. डीएसपी खनाल ने जानकारी देते हुए कहा कि वह समय-समय पर भारत के सीमावर्ती बजार रक्सौल आ कर वीरगंज के उद्योगी व व्यापारियों को फोन पर धमकी देकर पैसे की मांग कर अपने गुर्गे के माध्यम से पैसे वसूली कर ले जाता था.

वीरगंज में बड़ी घटना को अंजाम देने की थी सूचना- डीएसपी खनाल के अनुसार पुलिस को सूचना थी कि फूलहसन वीरगंज में बड़ी घटना को अंजाम देने के की तैयारी कर रहा है. इसके लिए वह नेपाल आ रहा है. अंसारी के नेपाल आने की सूचना पर सक्रिय हुई पुलिस ने इसकी जानकारी अपने काउंटर पार्ट को दी. इसके बाद भारत के सीमावर्ती क्षेत्रों में इसकी तलाशी शुरू की गयी थी. लेकिन किसी तरह वह नेपाल प्रवेश कर गया जहां से उसकी गिरफ्तारी की गयी.

फूलहसन का नेपाल में रहा है लंबा आपराधिक इतिहास- फूलहसन ने 2017 के जनवरी में वीरगंज के व्यापारी राजेश क्याल की गोली मार कर हत्या कर दी थी. राजेश की हत्या के दस दिन बाद पुलिस ने हथियार के साथ उसे गिरफ्तार कर लिया था. उक्त घटना में फूलहसन के विरुद्ध तीनों न्यायालय ने आरोप में शामिल होने का दोषी ठहराया व उम्रकैद की सजा को बरकरार रखा था.

जेल में सजा भुगत रहे फूलहसन को बाद में न्यायालय के द्वारा 2018 में दशहरा में आम माफी के तहत सजा को माफ कर दिया गया था. लेकिन जेल से रिहा होने के बाद वह फिर से आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने लगा. इसके बाद वीरगंज के अपौनी में विभिन्न अपराध में संलग्न रहे विदेशी साह के गैंग में शामिल हो दो दर्जन से ज्यादा आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने की बात डीएसपी खनाल ने कही.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें