1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. attack on nitish kumar latest news tejashwi yadav was seen avoiding speaking anything on up elections update news tejashwi attack on nitish kumar latest news

कांग्रेस के बिना विपक्ष की कामना बेमानी, यूपी चुनाव पर कुछ भी बोलने से बचते दिखे तेजस्वी यादव

कांग्रेस के बिना विपक्ष की कामना करना बेमानी है, देश में 200 से ज्यादा ऐसे सीट हैं, जहां पर कांग्रेस की भाजपा से सीधी टक्कर है. विपक्ष को इन सीटों पर एकजूट होने की जरुरत है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
यूपी चुनाव पर कुछ भी बोलने से बचते दिखे तेजस्वी
यूपी चुनाव पर कुछ भी बोलने से बचते दिखे तेजस्वी
प्रभात खबर

पटना. कांग्रेस के बिना विपक्ष की कामना करना बेमानी है, देश के 200 से ज्यादा ऐसे सीट हैं, जहां पर कांग्रेस की भाजपा से सीधी टक्कर है. विपक्ष को इन सीटों पर एकजुट होने की जरुरत है. ऐसा हुआ, तो भाजपा का अंत हो जायेगा. आजतक के विशेष कार्यक्रम 'सीधी बात' में प्रभु चावला से तेजस्वी यादव ने ये बाते कहीं. तेजस्वी यादव ने प्रभु चावला के साथ बातचीत में बिहार के सीएम नीतीश कुमार को लेकर भी कई सवाल खड़े किए.

प्रभु चावला से बातचीत के दौरान तेजस्वी यादव ने बिहार की नीतीश सरकार पर हमला करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में बिहार की जनता ने हमारे पक्ष में फैसला दिया था, लेकिन सरकार किसी और की बन गई. बातचीत के दौरान उन्होंने चुनाव परिणाम को लेकर भी सवाल खड़े किए.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बिहार में सरकार और विपक्ष के बीच संख्या का काफी कम ही अंतर है और कुल वोटों में सिर्फ 12 हजार का ही अंतर रहा है. तेजस्वी ने कहा, 'हमारी विचारधारा है और उस पर ही हम लोग राजनीति करते हैं. लेकिन, कई लोग ऐसे हैं, जिनके पास अपनी कोई भी विचारधारा ही नहीं है.'

पार्ट टाइम नेता होने के आरोपों पर तेजस्वी यादव ने कहा कि ऐसा आरोप वे लोग लगाते हैं, जिन्हें सत्ता में रहकर काम करना था, लेकिन उन्होंने तब किया नहीं और अब इस प्रकार का आरोप लगा रहे हैं. इसकी बानगी कोरोना काल में दिखी. कोरोना के समय उत्पन्न स्थिति पर भी उन्होंने सवाल खड़े किए.

उन्होंने कहा कि जब लोग कोरोना के दूसरी लहर में अस्पतालों और ऑक्सीजन के लिए दर-दर भटक रहे थे. हमने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी कि मुझे जनता की मदद करने के लिए बाहर निकलने की अनुमति दें, लेकिन हमें अनुमति नहीं मिली. इसके बाद हम अगर निकलते और अस्पताल जाते, तो कहा जाता कि आप कोरोना फैला रहे हैं. इसलिए अनुमति मांग रहा था.

'लालू नाम नहीं, एक विचारधारा'

राजद लालू प्रसाद यादव से जुड़े एक सवाल पर तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू प्रसाद अब एक नाम नहीं है, बल्कि एक विचारधारा है. उनका वोटबैंक है. जब नीतीश कुमार साथ थे, तब भी सबसे बड़ी पार्टी आरजेडी थी. उन्होंने कहा, ''लालू जी ने जो काम किया है, उसका असर अभी तक है.'' तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू जी ने सामाजिक न्याय किया था और अगर हमें मौका मिलता है तो आर्थिक न्याय करेंगे. राजद पर लगने वाले एमवाई की पार्टी पर तेजस्वी ने कहा कि राजद सिर्फ एमवाई की पार्टी नहीं है, बल्कि यह पूरी ए-जेड की पार्टी है.

यूपी चुनाव पर बोलने से बचते दिखे

यूपी चुनाव से जुड़े सवालों पर वे कुछ भी बोलने से परहेज करते दिखे. यह पूछने पर कि आप यूपी में चुनाव लड़ेंगे, तेजस्वी ने कहा समय आने पर इसका खुलासा करेंगे. सपा का चुनाव प्रचार यूपी में करेंगे, इसपर उन्होंने कहा कि जरुरत पड़ने पर जरुर जायेंगे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें