बिहार में अगला चुनाव नीतीश के नेतृत्व में ही लड़ेगा एनडीए

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
वैशाली से कौशिक रंजन
दो टूक : पहली बार सार्वजनिक मंच से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का एलान
केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को पहली बार किसी सार्वजनिक मंच से दो टूक कहा कि इस साल होने वाला बिहार विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही लड़ा जायेगा.
भाजपा व जदयू का गठबंधन अटूट है. बिहार को जंगलराज से निकाल कर ‘जनता राज’ तक पहुंचाने की यह यात्रा अविरल चलने वाली है. गठबंधन में दरार डालने की विपक्ष की कोशिश सफल नहीं होगी
शाह वैशाली के खरौना पोखर परिसर में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन सभा को संबोधित कर रहे थे. इससे पहले अमित शाह न्यूज चैनलों को दिये दो अलग-अलग इंटरव्यू में नीतीश कुमार के नेतृत्व व चेहरे पर ही बिहार चुनाव लड़ने की बात कह चुके हैं. श्री शाह ने कहा कि विधानसभा लोकनायक जय प्रकाश, कर्पूरी ठाकुर, जगजीवन राम के नाम लिये.
कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर चल रही तमाम अटकलों और अफवाहों पर विराम लगाते हैं. पूरा एनडीए नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही चुनाव मैदान में जायेगा. अमित शाह ने अपने 28 मिनट के संबोधन में बिहार को ही केंद्र में रखा.
बिहार में सीएए का जबरदस्त रिस्पांस बताते हुए केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी और बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार निरंतर विकास का काम कर रही है. लालू प्रसाद के शासनकाल में बिहार की विकास दर महज तीन प्रतिशत थी. नीतीश कुमार के शासनकाल में 2005 से 2020 तक बिहार ने 11 प्रतिशत विकास दर हासिल की है. देश ने भी अभी करीब 21 प्रतिशत की की दर से विकास हासिल किया है. बिहार सरकार की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि यहां बिजली, सड़क समेत अन्य सभी मूलभूत सुविधाओं में 100 फीसदी काम हुआ है.
लालटेन युग से निकल कर बिहार आज एलइडी युग में पहुंच गया है. लूज एंड ऑर्डर युग से निकल कर लाॅ एंड ऑर्डर युग में है. लालू प्रसाद पर हमला करते हुए शाह ने कहा कि जेल में बैठे लोग सरकार बनाना चाहते हैं. उन्होंने जानवरों का चारा चोरी करके खाया, हमने जनता को भोजन कराया है.
केंद्रीय गृह मंत्री ने सीएए को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा कि ये सारे नेता अल्पसंख्यक और युवाओं को गुमराह कर रहे हैं. शाह ने दोहराया कि सीएए नागरिकता देने वाला है, लेने वाला नहीं. देश विरोधी नारे लगाने वाले जेल में होंगे.
सीएए पर वोट बैंक की राजनीति कर रहा विपक्ष
श्री शाह ने सीएए के मुद्दे पर सभी विपक्षी दल के नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इन्हें सिर्फ वोट बैंक दिखता है. वोट के लालच में इनकी मति खो गयी है. गांधी जी ने 26 सितंबर, 1947 को कहा था कि पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू, सिख, बौद्ध समेत अन्य अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता देना पहला कर्तव्य है. आज यही काम मोदी सरकार कर रही है, तो क्या गलत है. सीएए के माध्यम से अनेक पीड़ितों को नागरिकता देने का काम प्रधानमंत्री ने किया है. सीएए पीड़ितों को सिर्फ मानवाधिकार लौटाने का काम है और कुछ नहीं.
चार महीने में राम मंदिर का निर्माण होगा शुरू
उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य चार महीने में शुरू होगा और गगनचुंबी मंदिर बनेगा. सभा को केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ संजय जायसवाल ने भी संबोधित किया.
केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने भगवान बुद्ध व महावीर का मोमेंटो देकर अमित शाह का स्वागत किया.
सीएए के समर्थन में वैशालीगढ़ के खरौना पोखर मैदान में सभा आयोजित
साथी पर भरोसा
भाजपा-जदयू गठबंधन अटूट
बिहार को जंगलराज से निकाल कर ‘जनता राज’ तक पहुंचाने की यह यात्रा अविरल चलेगी
केंद्र में मोदी व बिहार में नीतीश के नेतृत्व में एनडीए सरकार कर रही लगातार विकास
नीतीश की तारीफ
नीतीश के शासनकाल में 2005 से 2020 तक बिहार ने 11% विकास दर हासिल की
बिहार में बिजली, सड़क व अन्य मूलभूत सुविधाओं में 100% काम
लालटेन युग से निकल कर बिहार आज एलइडी युग में
ममता-लालू बताएं, क्या बिगाड़ा दलितों ने
अमित शाह ने कहा कि पाकिस्तान व अन्य पड़ोसी देशों से आने वालों में अधिकतर दलित व पिछड़े समाज के लोग हैं. ममता बनर्जी व लालू प्रसाद से पूछना चाहते हैं कि वे इनकी नागरिकता का विरोध क्यों करना चाहते हैं? दलितों और पिछड़ों ने क्या बिगाड़ा है? उन्होंने कहा कि देश का विभाजन धर्म के आधार पर नहीं होना चाहिए सीएए के समर्थन में मिस काॅल करने को कहा : अमित शाह ने कहा कि मकर संक्रांति से सूर्य उत्तर में हो जाते हैं. साथ ही इसके शुभ कार्य की शुरुआत हो जाती है. बिहार से इसकी शुरुआत की जा रही है. गृह मंत्री ने संबोधन के बीच में लोगों से समर्थन में नारे भी लगवाये. एक नंबर (88662 88662) देते हुए लोगों से कहा कि वे सीएए के समर्थन में मिस काॅल करें, लोगों ने ऐसा किया भी.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें