27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

आसमान में छाये बादल, गर्मी से मिली राहत

मई के पहले सप्ताह में मौसम के मिजाज में थोड़ी नरमी आयी है. शनिवार को तापमान 37 डिग्री सेल्सियस पर आ गया. जिससे लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत महसूस हुई है.

मधुबनी . मई के पहले सप्ताह में मौसम के मिजाज में थोड़ी नरमी आयी है. शनिवार को तापमान 37 डिग्री सेल्सियस पर आ गया. जिससे लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत महसूस हुई है. आसमान में बादलों की आंख मिचौली सुबह में जारी रहा. लेकिन जैसे जैसे दिन चढ़ता गया तापमान भी बढता गया. हालांकि लोगों को चार दिन पूर्व लगने बाली गर्मी से राहत मिली. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार आने वाले दिनों में तापमान की तपिश कम होने के साथ ही बारिश की भी संभावना जताई जा रही है. इधर, हीट वेव से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में है. किसी प्रकार की आपात स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य संस्थानों में में प्रचुर मात्रा मे दवा की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है. सिविल सर्जन डॉ नरेश कुमार भीमसारिया ने भीषण गर्मी एवं लू से बचाव तथा इससे उत्पन्न विभिन्न प्रकार की स्वास्थ संबंधी बीमारियों के चिकित्सकीय उपचार एवं प्रबंधन के लिए आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है. सभी सरकारी अस्पतालों में एंटी डायरियल मेडिसिन, आइबी फ्लूड ओआरएस एवं इससे संबंधित अन्य आवश्यक औषधियों तथा मेडिकल डिवाइस एवं कंज्यूमेबल की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है. लू से प्रभावित व्यक्तियों का हर्ट रेट, रिस्पायरेट्री रेट, ब्लड प्रेशर, रेक्टल टेंपरेचर एवं मेंटल स्टेट का लगातार निगरानी करने का निर्देश दिया है. लू से ग्रसित गंभीर मरीजों का कंपलीट ब्लड काउंट, इलेक्ट्रोलाइ, ईसीजी, अदर मेटाबॉलिक एब्नार्मेलिटीज, लिवर फंक्शन टेस्ट एवं किडनी फंक्शन टेस्ट कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया है.

ऐसे पहचाने लू के लक्ष्ण

तेज सिर दर्द का होना, उल्टी या जी मचलाना, बुखार का होना, त्वचा का लाल, गर्म एवं सूखा होना( पसीना नहीं चलना), बेहोशी या चक्कर आना, घबराहट या संशय का बढ़ जाना,अत्यधिक आलस या सुस्ती का होना

दैनिक दिनचर्या एवं आहार परिवर्तन जरुरी :

गर्मी के बढ़ने से पसीना चलना शुरू हो जाता है, इससे शरीर में पानी की मात्रा में तेजी से कमी आती है. इसलिए इस मौसम में प्रचुर मात्रा में पानी का सेवन करना फायदेमंद है. इसके साथ ही मौसमी फलों और हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन भी शरीर में पानी की मात्रा को संतुलित करने में सहायक होता है.

लू से बचाव:

सीएस ने कहा कि कुछ सावधानी बरतकर लू से बचाव किया जा सकता है. खाली पेट घर से बाहर नहीं निकलें. सुपाच्य एवं हल्के भोजन का सेवन करें. अत्यधिक शीतल पेय पदार्थों के सेवन करने से बचें. देर रात तक नहीं जागें एवं कम से कम 8 घंटे की नींद जरुर लें. अत्यधिक वजन से शरीर में अतिरिक्त ऊष्मा पैदा होती है. इसलिए अत्यधिक वजन वाले लोग गर्मी के दिनों में वसा युक्त भोजन सेवन करने से बचें.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें