1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. khagaria
  5. khagaria video of the then inspector posted in gogri police station taking bribe went viral ksl

Khagaria: गोगरी थाने में पदस्थापित तत्कालीन दारोगा का घूस लेते वीडियो वायरल, महकमे में मचा हड़कंप

जिले के गोगरी थाने में पदस्थापित तत्कालीन एक दारोगा का घूस लेते हुए वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Khagaria: घूस लेते जिले के गोगरी थाने में पदस्थापित तत्कालीन दारोगा.
Khagaria: घूस लेते जिले के गोगरी थाने में पदस्थापित तत्कालीन दारोगा.
प्रभात खबर

Khagaria: जिले के गोगरी थाने में पदस्थापित तत्कालीन एक दारोगा का घूस लेते हुए वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. बताया जा रहा है कि मामला करीब दो माह पूर्व की है. लेकिन, वीडियो अब वायरल हो रहा है. आरोपित दारोगा वर्तमान में बहादुरपुर पिकेट में पदस्थापित है.

सनहा दर्ज कराने के नाम पर दारोगा ने मांगा था घूस

जानकारी के मुताबिक, खगड़िया जिले के गोगरी थाने में पदस्थापित रहे एक दारोगा का घूस लेते वीडियो वायरल हो रहा है. बताया जा रहा है कि गोगरी थाने में सनहा दर्ज करने के नाम पर मालिया के अनिमेष कुमार नामक एक युवक से दारोगा घूस ले रहा है. वायरल वीडियो इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है.

मकेश्वर प्रसाद के रूप में की गयी आरोपित दारोगा की पहचान

वायरल वीडियो में दिख रहे दारोगा की पहचान मकेश्वर प्रसाद के रूप में की गयी है. आरोपित दारोगा वर्तमान में बहादुरपुर पिकेट में पदस्थापित हैं. वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है. गोगरी के डीएसपी मनोज कुमार ने कहा है कि मामले की जांच कर वरीय पदाधिकारी को रिपोर्ट सौंपी जायेगी.

पिछले साल भी वायरल हुआ था एक और दारोगा का वीडियाे

इससे पहले पिछले साल भी गोगरी थाने में पदस्थापित दारोगा लालजी मिश्रा का एक वीडियो वायरल हुआ था. वायरल वीडियो की जांच में मामला सही पाये जाने पर आरोपित दारोगा लालजी मिश्रा को निलंबित कर दिया गया था. वायरल वीडियो में दारोगा ने ना सिर्फ गंदी भाषा का प्रयोग करते दिखे थे, बल्कि रुपये मांगते और लेते हुए भी दिखे थे.

झूठा केस दर्ज करने पर एक दारोगा पर हो चुकी है विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा

वहीं, परबत्ता थाने के दारोगा केशव पाठक पर भी विभागीय कार्रवाई की गयी थी. उन्होंने शादी में आये दो युवकों को बिना शराब पिये ही शराब मामले में केस दर्ज कर जेल भेज दिया था. मामला संज्ञान में आने के बाद केशव पाठक पर विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा की गयी थी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें