1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. kaimur
  5. police in chainpur attacked and rescued the accused a young man injured

पुलिस पर हमला कर गिरफ्तार आरोपित को छुड़ाया, एक जवान जख्मी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
Twitter

गया: चैनपुर थाना क्षेत्र के नौघड़ा गांव में सोमवार की सुबह एक आरोपित को पकड़ने गयी पुलिस पर हमला कर जबरन गिरफ्तार आरोपित को ग्रामीणों ने छुड़ा कर भगा दिया. हमले में पुलिस के एक जवान का सिर भी फूट गया. सादे लिबास में जख्मी हुए पुलिसकर्मी द्वारा आरोपित को पकड़ लिया गया था. लेकिन, चैनपुर विधानसभा से प्रत्याशी रहे जमा खां व पैक्स अध्यक्ष कबीर खां द्वारा जबरन उसे छुड़ा कर भगा दिया गया और ग्रामीणों द्वारा पकड़नेवाले पुलिसकर्मी पर हमला कर दिया गया.

चैनपुर पुलिस द्वारा मामले में प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है. दरअसल, इसियां गांव में बीते दिनों खेत में पानी को लेकर दो पक्षों में विवाद हुआ था. इसमें ललन सिंह नामक व्यक्ति को गोली चलाने का आरोपित बनाया गया था. पुलिस बेसब्री से ललन सिंह को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही थी. ललन सिंह पूर्व में भी एक हत्या के मामले में नामजद आरोपित रह चुका है. सोमवार की सुबह चैनपुर थानाध्यक्ष संतोष कुमार को यह सूचना मिली कि ललन सिंह नौघड़ा गांव में आया हुआ है. उक्त सूचना पर थानाध्यक्ष संतोष सिंह एक दारोगा, एक एएसआइ व एक सिपाही के साथ उसे पकड़ने के लिए नौघड़ा पहुंचे. सिपाही मनीष कुमार पांडेय सादे लिबास में खड़ा था. तभी ललन सिंह उसकी बगल से गुजरने लगा. सादे लिबास में सिपाही मनीष ने तत्काल उसे पकड़ लिया. पकड़े जाने के बाद ग्रामीणों ने सिपाही पर हमला कर दिया. उक्त सिपाही अपने आपको पुलिसकर्मी होने की दुहाई देता रहा. लेकिन, किसी ने उसकी एक न सुनी.

मौके पर चैनपुर विधानसभा से प्रत्याशी रहे जमा खां, पैक्स अध्यक्ष कबीर खां सहित अन्य लोग पहुंचे और जबरन आरोपित ललन सिंह को पुलिस पकड़ से छुड़ा कर कर भगा दिया. साथ ही पुलिस को धमकी दी कि तत्काल यहां से चले जाओ, नहीं तो अच्छा नहीं होगा. इसी बीच वहां मौजूद अन्य लोगों ने उक्त पुलिसकर्मी के ऊपर हमला कर दिया. इसमें पुलिस जवान का सिर फूट गया व शरीर पर कई जगह चोटें भी लगी हैं. अन्य पुलिसकर्मियों की मदद से घायल जवान किसी तरह से ललन को छोड़कर वहां से भाग खड़ा हुआ. हालांकि, वहां पर दूसरे पुलिसकर्मियों ने ललन के ससुर को भागने के क्रम में पकड़ लिया.

पकड़े गये ललन के ससुर ने बताया कि मामले में सुलह समझौते के लिए वह जमा खां के यहां गये थे. अभी बात चल रही थी कि जमा खां ने कहा कि जल्दी भाग जाओ यहां पुलिस आ गयी है और हमलोग भागने लगे. इसी बीच पुलिस ने हमें पकड़ लिया. सादे लिबास में पुलिस के होने के कारण हुई हाथापाईइधर, उक्त मामले में पूछे जाने पर जमा खां ने बताया कि पुलिसकर्मी सादे लिबास में था. इसके कारण लोग उसे पहचान नहीं सके. नहीं पहचाने जाने के कारण उसके साथ हाथापाई एवं मारपीट की घटना हुई. मुझ पर आरोपित को जबरन छुड़ाने एवं धमकी देने का आरोप लगाया गया है, जो पूरी तरह से गलत है. क्या कहते हैं थानेदार थानेदार संतोष कुमार ने बताया कि इसियां गोलीकांड के आरोपित ललन सिंह के वहां छिपने की सूचना पर पुलिस टीम छापेमारी करने गयी थी. नौघड़ा के लोगों ने पुलिस पर हमला कर आरोपित को छुड़ा लिया एवं पुलिस जवान को जख्मी कर दिया. इस मामले में जमा खां एवं कबीर खां द्वारा आरोपित को जबरन छुड़ा कर भगाने में मदद की गयी है. पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज की जा रही है.क्या कहते हैं एसपी एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि मैं एक आवश्यक मीटिंग में डेहरी डीआइजी के पास आया हूं. पुलिस पर हमले के मामले की जांच डीएसपी भभुआ अजय प्रसाद को सौंपी गयी है. मामले में जो लोग दोषी होंगे उन पर कठोर कार्रवाई करने के लिए आदेश दिया गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें