1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. cm nitish kumar why said engineers job is not only release tenders now bihar govt engineers to get on road too upl

इंजीनियर का काम सिर्फ टेंडर निकालना नहीं, अब सड़कों पर भी उतरना होगा, सीएम नीतीश कुमार ऐसा क्यों कहा?

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
File

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish kumar) ने कहा कि बिहार की सभी सड़कों और भवनों के रखरखाव का काम अब संबंधित विभाग ही अपने स्तर पर करेंगे. विभागों के इंजीनियरों का काम सिर्फ टेंडर निकालना और काम करवाना ही नहीं है. इससे संबंधित एक विस्तृत कार्ययोजना जल्द ही जारी कर दी जायेगी. उन्होंने कहा कि ग्रामीण सड़कों के रखरखाव की जिम्मेदारी संबंधित विभाग उठायेंगे.

मुख्यमंत्री मंगलवार को विधानमंडल के दोनों सदनों में राज्यपाल के अभिभाषण पर हुए वाद-विवाद के बाद सरकार की तरफ से जवाब दे रहे थे. सीएम ने कहा कि कई बार बिना काम हुए ही भुगतान हो जाता है. इस तरह की कोई गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जायेगी. उन्होंने सभी सदस्यों से कहा कि उनके क्षेत्र में किसी सड़क, पुल समेत अन्य में गड़बड़ी है, तो वे विभागीय मंत्री या उनसे इसकी सीधे शिकायत करें.

इसके लिए आरोपित पदाधिकारी या ठेकेदार पर सख्त कार्रवाई की जायेगी. उन्होंने कहा कि सात निश्चय-2 में छूटी हुई ग्रामीण सड़कों का निर्माण किया जायेगा. कई गांवों को मिलाकर पास के बड़े शहर से जोड़ने वाली सड़क का भी निर्माण कराया जायेगा. लोक शिकायत निवारण कानून में भी सड़क मरम्मत के मामलों को शामिल किया गया है.

Nitish kumar: धान खरीद के लिए हल्ला मचाने वाले किसान नहीं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में अब तक रिकॉर्ड 35 लाख 59 हजार टन धान की खरीद हो चुकी है. सभी किसानों से धान खरीद कर ली गयी है, कोई नहीं बचा है. अब जो हल्ला कर रहे हैं, वे किसान नहीं, बल्कि व्यापारी हैं. इन लोगों ने बिचौलिये का काम करते हुए शुरुआत में ही किसानों से धान खरीद करके रख ली है.

पहले विधानसभा में फिर विधान परिषद में बारी-बारी से सरकार की ओर से जवाब देते हुए सीएम ने कहा कि फर्जी तरीके से धान बेचने वालों पर सरकार की कड़ी नजर है. सरकार ऐसी गड़बड़ी नहीं होने देगी. इसी वजह से ये हल्ला मचा रहे हैं.

Nitish kumar: कोरोना को लेकर अब भी सचेत रहें

कोरोना को लेकर अब भी सचेत रहने की जरूरत है. इसका खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है. कोरोना जांच के दायरे को फिर से बढ़ाने के निर्देश दिये किये गये हैं. बहुत जल्द ही स्वास्थ्य कर्मियों समेत सभी फ्रंटलाइन वर्कर के लिए कोरोना टीकाकरण का दूसरा दौर शुरू होने जा रहा है. साथ ही 50 वर्ष से ज्यादा के सभी बुजुर्गों और किसी भी उम्र के किसी तरह की गंभीर बीमारी से पीड़ित सभी व्यक्तियों का टीकाकरण किया जायेगा.

उन्होंने दोनों सदनों के सभी सदस्यों को भी कहा कि वे मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं. विधानसभा में अध्यक्ष ने भी मास्क का बंदोबस्त करवा रखा है. सभी अनिवार्य रूप से मास्क लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करें.

Posted By: Utpal Kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें