1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar updates locusts armyworm will knock huge loss in mecca top 5 news of bihar hindi news prabhat khabar corona virus cm nitish kumar

Bihar Updates : टिड्डियों के बाद अब फॉल आर्मीवार्म की दस्तक, मक्का में होगा भारी नुकसान, पढ़ें बिहार की टॉप 5 खबरें

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रबी के मौसम में पहली बार बेहद खतरनाक कीट फॉल आर्मीवार्म ने राज्य में दस्तक दी है. राज्य के सीमावर्ती जिलों में पहले से चले रहे टिड्डियों के प्रकोप के खतरे के बीच अब फसलों के लिए फॉल आर्मीवर्म यानी स्पोडोप्टेरा फ्रूगीपेर्डा काल बन कर उभर रहा है. बीते वर्ष रबी के मौसम में राज्य में पहली बार आने वाले इस भयंकर कीट ने अपनी पहुंच अब रबी के फसल तक कर लिया है. पहला मामला बक्सर के सिमरी प्रखंड में देखने को मिला है. सबसे बड़ी बात है कि फॉल आर्मीवार्म की पुष्टि डुमरांव स्थित वीर कुंवर सिंह कृषि महाविद्यालय के कृषि वैज्ञानिकों ने जांच के बाद कर दी है. साथ ही इसकी जांच के लिए अन्य क्षेत्रों से जानकारी भी जुटायी जा रही है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि नौ अगस्त को बिहार पृथ्वी दिवस के दिन ढाई करोड़ से अधिक पौधे एक दिन में लगाये जायेंगे. उन्होंने आमलोगों से सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने की अपील की. सीएम ने कहा कि अगर हम जागरूक नहीं होंगे तो किसी न किसी बीमारी की चपेट में आते रहेंगे. जेनेटिकली मोडीफाइड क्रॉप से पर्यावरण नुकसान की आशंका जताते हुए इसे रोकने की उन्होंने वकालत की. मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस के साथ संपूर्ण क्रांति दिवस और कबीर जयंती के रूप में भी मनाया जाता है.

कोरोना पॉजिटिव मामले में खगड़िया ने सभी जिलों को पीछे छोड़ दिया है. खगड़िया जिले में अब तक सर्वाधिक 273 मामले पाये गये हैं. इधर पटना जिला दूसरे स्थान पर है. शुक्रवार को राज्य भर में कुल 146 नये कोरोना पॉजिटिवों की पहचान की गयी है. नये कोरोना पॉजिटिव राज्य के विभिन्न जिलों में पाये गये हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना पॉजिटिवों की कुल संख्या 4598 हो गयी है. इसमें 29 लोगों की मौत हो चुकी है.

अब नाइट कर्फ्यू के दौरान भी बस, आॅटो रिक्शा, टैक्सी, प्राइवेट वाहन से यात्री आवागमन कर सकेंगे. यानी बस स्टैंड, एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर नाइट कर्फ्यू की अवधि में आने-जाने की छूट दी गयी है. इसके लिए सभी यात्रियों के पास अपना आइ-कार्ड और टिकट रखना अनिवार्य होगा. मुख्य सचिव की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में यह निर्णय लिया गया. परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि नाइट कर्फ्यू की अवधि में बसों आदि का परिचालन प्रथम स्थान बिंदु से प्रारंभ नहीं किया जायेगा, लेकिन वाहन खुलने के बाद उस अवधि में बसें अपने गंतव्य स्थल या बीच के स्टैंड तक आराम से आ सकेगी.

देश में मार्च से मई के बीच कोरोना वायरस ने भारतीय वातावरण में खुद को प्रभावी बनाने के लिए 198 बार अपने स्वरूप में बदलाव किया. विज्ञान की भाषा में इन बदलावों को वेरिएंट कहा जाता है. सबसे ज्यादा बदलाव दिल्ली,गुजरात,तेलंगाना,महाराष्ट्र और कर्नाटक में देखे गये, पर बिहार में कोई बदलाव नहीं दिखा. जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के ताजातरीन अनुसंधान में यह उजागर हुआ है. जूलॉजिकिल सर्वे ऑफ इंडिया के निदेशक कैलाश चंद्र ने इस बात की पुष्टि की है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें