28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

624 स्कूलों के प्रधानाध्यापक को स्पष्टीकरण

जिला शिक्षा विभाग ने यू डायस पोर्टल पर छात्र-छात्राओं की संख्या काफी कम अपलोड करने पर जिला के 624 स्कूलों के प्रधानाध्यापक व प्रभारी प्रधानाध्यापकों से स्पष्टीकरण पूछा है

जिला शिक्षा विभाग ने यू डायस पोर्टल पर छात्र-छात्राओं की संख्या काफी कम अपलोड करने पर जिला के 624 स्कूलों के प्रधानाध्यापक व प्रभारी प्रधानाध्यापकों से स्पष्टीकरण पूछा है. इसका जवाब 24 घंटे के अंदर उन प्रधानाध्यापकों से मांगी गयी है. सत्र 2022-23 व सत्र 2023-24 में पिछले सत्र की तुलना में छात्रों की संख्या की इंट्री कम होने का स्पष्ट कारण पूछा गया है. इसे लेकर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी एसएसए डॉ जमाल मुस्तफा ने कहा कि पिछले सत्र की तुलना में वर्तमान सत्र में जिला भर के 624 स्कूलों में छात्रों की आधी से भी कम संख्या इंट्री यू-डायस पोर्टल पर किया गया है. ऐसे में छात्रों की संख्या कैसे कम हुआ. इस बाबत 624 स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को शोकॉज किया गया है. डीपीओ ने सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी व उन स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को पत्र भेजा है. ——————————————————- किलकारी के बच्चे सीख रहे हैं सितार वादन कंपनीबाग स्थित किलकारी बिहार बाल भवन में शास्त्रीय सितार वादन कार्यशाला का आयोजन किया गया है. कार्यशाला में बच्चों को पारंपरिक सितार वादन की बुनियादी जानकारी दी जा रही है. हरियाणा के प्रसिद्ध सितार वादक डॉ सुरेंद्र कुमार बच्चों को प्रशिक्षण दे रहे हैं. मौके पर डॉ सुरेंद्र कुमार ने कहा किलकारी के बच्चे बेहद प्रतिभाशाली हैं. कार्यशाला का उद्देश्य बच्चों को पारंपरिक शास्त्रीय सितार वादन से जोड़ना है. सहायक कार्यक्रम पदाधिकारी साहिल राज ने कहा कि किलकारी के बच्चों को राज्य में सिर्फ भागलपुर में सितार का प्रशिक्षण दिया जा रहा है. सितार प्रशिक्षक प्रवीर ने कहा कि किलकारी के बच्चे सितार में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. यहां के बच्चों ने राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में अपना प्रदर्शन किया है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें