25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

विवाहिता ने खाया जहर, इलाज के दौरान मौत

विवाहिता ने खाया जहर, इलाज के दौरान मौत

अस्पताल में शव छोड़कर ससुराल पक्ष के लोग फरार

प्रतिनिधि, अमरपुर

थाना क्षेत्र के औड़ेय गांव में जहर खाने से एक विवाहिता की मौत स्थानीय रेफरल अस्पताल में इलाज के दौरान हो गयी. जानकारी के अनुसार उक्त गांव निवासी ऋषि कुमार गौतम व उनकी पत्नी साक्षी देवी के बीच कुछ वर्षों से आपसी विवाद चल रहा था. जिसके कारण विवाहिता थाना क्षेत्र के चपरी गांव स्थित अपने मायके में रह रही थी. स्थानीय जनप्रतिनिधियों व समाजसेवियों की पहल पर गत बुधवार को विवाहिता अपने परिजन के साथ औड़ेय गांव स्थित अपने ससुराल बुलवाया गया. जहां पंचायत के पंसस संध्या कुमारी के पति उदय शंकर शर्मा के नेतृत्व में दोनों पति व पत्नी के बीच सुलह कराने को लेकर पंचायत किया गया. पंचायत के दौरान दोनों ने अपनी राजी खुशी से एकसाथ रहने की रजामंदी दिया. बुधवार की देर रात्रि विवाहिता के पति ने एक सुसाइड नोट लिखकर अपनी मर्जी से सपरिवार आत्महत्या करने की सूचना लिखकर एक प्रति पंसस के व्हाटसप पर फॉरवर्ड कर दिया. मामले को गंभीरता से लेते हुए पंसस पति ने व्हाटसप की गयी प्रति थानाध्यक्ष व पंचायत का मुखिया के व्हाटसप पर भेज दिया. शुक्रवार की सुबह विवाहिता को घर के बाहर छटपटाता देख ग्रामीणों ने उसे इलाज के लिए बाइक से अस्पताल लाया. जहां रेफरल प्रभारी डॉ रायबहादुर ने विवाहिता की जान बचाने का काफी प्रयास किया. लेकिन उनकी स्थिति में कोई सुधार नहीं होता देख विवाहिता को बेहतर उपचार के लिए मायागंज भागलपुर रेफर कर दिया. आनन-फानन में कर्मियों के द्वारा विवाहिता को एंबुलेंस पर लोड किया. विवाहिता की गंभीर स्थिति को देख उनके साथ आये ग्रामीण व पंसस पति मौके पर से रफ्फू-चक्कर हो गये. इस दौरान विवाहिता परिजनों के इंतजार में आधे घंटे तक एंबुलेंस पर पड़ी रही. लेकिन उनका कोई भी परिजन अस्पताल नहीं आये और इसी बीच एंबुलेंस पर ही उनकी मौत हो गयी. मौके पर रेफरल प्रभारी ने एंबुलेंस पर जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया. जिसके बाद रेफरल प्रभारी के द्वारा घटना की सूचना थाना में दिया गया. सूचना मिलते ही दारोगा बबलू कुमार व विक्की कुमार दलबल के साथ अस्पताल पहुंचे और मामले की जानकारी चिकित्सक से ली गयी. पुलिस ने अस्पताल में करीब चार घंटे तक मृतका के परिजनों के आने का इंतजार किया. लेकिन मृतका के ससुराल व मायके पक्ष से एक भी लोग अस्पताल नहीं आये. जिसके बाद दारोगा विक्की कुमार पुलिस बलों के साथ मृतका के मायके चपरी गांव प्रभाष राय के घर पहुंचे और मृतका की मां नीरज देवी को उनके अन्य परिजनों के साथ लेकर अस्पताल पहुंचे. मौके पर पुलिस ने मृतका के शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए बांका भेज दिया. थानाध्यक्ष पंकज कुमार झा ने बताया कि शव को फिलवक्त पोस्टमार्टम के लिए बांका भेज दिया गया है. मृतका के परिजनों द्वारा आवेदन मिलने पर आगे की कार्यवाही की जायेगी.

मृतका के गांव में पसरा मातमी सन्नाटा

मृतका के मायके व ससुराल पक्ष से अस्पताल पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि दस वर्ष पूर्व मृतका की शादी हिंदू रीति रिवाज के साथ अमरपुर थानाक्षेत्र के ओड़ैय गांव निवासी सदानंद सिंह के पुत्र ऋषि कुमार गौतम के साथ हुई थी. विवाह के पश्चात उन्हें दो पुत्र हुए. जिसमें बड़ा पुत्र कृष्ण कुमार (9) मुकबधीर है, जो अपने पिता के साथ रहता है. वहीं छोटा पुत्र अर्जुन कुमार (5) अपनी मां के साथ नानी के घर चपरी गांव में रहता है. मृतका के पति गुजरात के एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है. घटना के एक दिन पूर्व गुरुवार को महिला अपने मायके चपरी से अपना ससुराल ओड़ैय गांव गयी थी. विवाहिता की मौत के बाद गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें