1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. araria
  5. police fired stones pushed pistols and robbed in car

पुलिस पर पथराव, धक्का-मुक्की कर छीना पिस्टल, गाड़ी में तोड़फोड़

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
पुलिस पर पथराव, धक्का-मुक्की कर छीना पिस्टल, गाड़ी में तोड़फोड़
पुलिस पर पथराव, धक्का-मुक्की कर छीना पिस्टल, गाड़ी में तोड़फोड़

अररिया: जोकीहाट थाना क्षेत्र के बागढाहरा पंचायत के शेरलंघा निवासी रहमतुल्ला (45) की रविवार को सड़क दुर्घटना में मौत हो गयी. रहमतुल्ला साइकिल से ससुराल कुर्सेल जा रहा था. उदाकिशनपुर प्राथमिक स्कूल के समीप पीछे से तेज गति से आ रही ऑटो ने ठोकर मार दी. इससे घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गयी. मौत के बाद परिजन व स्थानीय लोग सड़क जाम कर विरोध जताने लगे.

सूचना पर पहुंची महालगांव पुलिस पर प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पथराव कर धक्का-मुक्की की. इसी क्रम में कुछ अराजक तत्वों ने महलगांव के दारोगा सदानंद साह का सर्विस पिस्टल छीन लिया. पुलिस वाहन व एंबुलेंस को क्षतिग्रस्त कर दिया. इसकी सूचना पर एसडीओ शैलेंद्र चंद्र दिवाकर व एसडीपीओ पुष्कर कुमार घटनास्थल पर पहुंचे. घटनास्थल पर उन्हें दारोगा के साथ दुर्व्यवहार के अलावा सर्विस पिस्टल भी छीनने की जानकारी मिली. उन्होंने अररिया एसपी धुरत शायली सांवलाराम को घटना की पूरी जानकारी दी. एसपी ने उन्हें आवश्यक निर्देश दिये. इसके बाद एसडीपीओ ने स्पष्ट कर दिया कि अब न तो शव उठेगा न ही पुलिस हटेगी. यहां पर कैंप किया जायेगा. यह कैंप तब तक जारी रहेगा, जब तक दोषियों को सजा नहीं मिल जाती. इतने में स्थानीय जनप्रतिनिधि व पूर्व सांसद मो सरफराज आलम भी घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने पुलिस व आम लोगों के बीच मध्यस्थता करानी चाही. लेकिन, एसडीपीओ पिस्टल बरामदगी की मांग पर अड़ गये.

जब पूर्व सांसद सरफराज आलम को यह जानकारी मिली कि दारोगा का पिस्टल गायब है, तो वे भी पुलिस का सहयोग करने लगे. काफी जद्दोजहद व पूर्व सांसद और एसडीपीओ के हस्तक्षेप के बाद दारोगा का पिस्टल मिला. इसके बाद शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. इधर खबर लिखे जाने तक उपद्रवियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज किये जाने की कार्रवाई चल रही थी. वहीं एसडीपीओ ने बताया कि एक दर्जन नामजद व सैकड़ों अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की जायेगी.पुलिस के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के विरुद्ध होगी कड़ी कार्रवाई:पुलिस हर स्थान पर उपद्रव को कंट्रोल करने में लगी रहती है. महलगांव पुलिस की क्या गलती थी कि उनके साथ अभद्रता की सीमा तोड़ दी गयी. उनका सर्विस पिस्टल छीन लिया गया. पूर्व सांसद सरफराज आलम व कुछ स्थानीय लोगों की मदद से पिस्टल बरामद कर लिया गया है.

पुलिस के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के विरुद्ध हर हाल में कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जायेगी.पुष्कर कुमार, एसडीपीओ, अररिया

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें