1. home Hindi News
  2. opinion
  3. hindi is not a rival to indian languages article by krishna pratap singh srn

हिंदी भारतीय भाषाओं की प्रतिद्वंद्वी नहीं

आजादी मिलने के दो साल बाद 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा में महज एक मत के बहुमत से हिंदी को राजभाषा घोषित किया गया, तो उसे उसकी ‘विजय’ से ज्यादा आजादी की लड़ाई में उसके योगदान के पुरस्कार के तौर पर देखा गया था

By कृष्ण प्रताप सिंह
Updated Date
हिंदी भारतीय भाषाओं की प्रतिद्वंद्वी नहीं
हिंदी भारतीय भाषाओं की प्रतिद्वंद्वी नहीं
Twitter

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube
Share Via :
Published Date

अन्य खबरें