Advertisement

politics

  • Jan 20 2019 2:15PM

क्या है शीला का विकास मॉडल, जिसकी मदद से केजरीवाल को धराशायी करेगी कांग्रेस

क्या है शीला का विकास मॉडल, जिसकी मदद से केजरीवाल को धराशायी करेगी कांग्रेस

नयी दिल्ली : आगामी लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के अकेले लड़ने की घोषणा के बाद कांग्रेस दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार के खिलाफ जल्द ही व्यापक जनसंपर्क अभियान शुरू करने की तैयारी में है. इसके तहत वह पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के ‘विकास मॉडल’ की तुलना केजरीवाल सरकार के प्रदर्शन से करते हुए अपने पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश करेगी.

इसे भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश के कासगंज में किसी को तिरंगा यात्रा निकालने की अनुमति नहीं, धारा 144 लागू

पार्टी सूत्रों का कहना है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनने के बाद शीला दीक्षित संगठन में नयी जान फूंकने के साथ ही पार्टी के खोये हुए आधार को वापस पाने के मकसद से कम कर रही हैं. ऐसी कोशिशों में यह जनसंपर्क अभियान भी शामिल है, जो ब्लॉक स्तर पर चलाया जायेगा.

सूत्रों का यह भी कहना है कि आप के साथ गठबंधन की संभावना लगभग खत्म हो जाने के बाद शीला, केजरीवाल को पूरी ताकत के साथ घेरने की तैयारी में हैं, ताकि उस निर्णायक वोट बैंक को फिर से कांग्रेस की ओर खींचा जा सके, जो कभी उसकी रीढ़ हुआ करता था. संगठन और पार्टी के आधार को मजबूत करने के मकसद से ही शीला ने तीनों कार्यकारी अध्यक्षों को दिल्ली के अलग-अलग नगर निगम क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी है.

इसे भी पढ़ें : इस नयी व्यवस्था से क्राइम कंट्रोल करेगी उत्तर प्रदेश की पुलिस

राजेश लिलोठिया को उत्तरी दिल्ली, देवेंद्र यादव को दक्षिणी दिल्ली और हारून यूसुफ को पूर्वी दिल्ली की जिम्मेदारी सौंपी गयी है. दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने कहा, ‘अब दिल्ली के लोगों के सामने विकास के दो मॉडल हैं. एक मॉडल शीला जी का है, जिसमें दिल्ली की पूरी तस्वीर बदल गयी. दूसरा मॉडल केजरीवाल का है, जिसमें विकास थम गया है.’

उन्होंने कहा, ‘हम जल्द ही ब्लॉक स्तर पर जायेंगे और जनसंपर्क अभियान के माध्यम से जनता को बतायेंगे कि दिल्ली की तरक्की शीला दीक्षित के विकास मॉडल से ही हो सकती है.’ लिलोठिया ने कहा कि पार्टी के आधार को मजबूत करने के मकसद से दिल्ली कांग्रेस की तरफ से शुरू किये जाने वाले सभी कार्यक्रमों के बारे में जल्द घोषणा की जायेगी.

इसे भी पढ़ें : US Shutdown : मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के बदले ट्रंप ने दिया यह प्रस्ताव

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से दिल्ली में कांग्रेस और आप के बीच लोकसभा चुनाव में गठबंधन की संभावना जतायी जा रही थी. हालांकि आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने शुक्रवार को कहा, ‘हम दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में अकेले ही चुनाव लड़ेंगे.’

Advertisement

Comments

Advertisement