Advertisement

lucknow

  • Jan 20 2019 1:15PM
Advertisement

उत्तर प्रदेश में 26 जनवरी को यहां नहीं निकलेगी तिरंगा यात्रा, अभी से धारा 144 लागू

उत्तर प्रदेश में 26 जनवरी को यहां नहीं निकलेगी तिरंगा यात्रा, अभी से धारा 144 लागू

कासगंज/आगरा : गणतंत्र दिवस पर पिछले साल उत्तर प्रदेश के कासगंज में पिछले साल भड़की हिंसा को देखते हुए प्रशासन ने करीब एक सप्ताह पहले ही यहां धारा 144 लगा दी है. किसी तरह की रैली पर प्रशासन ने पूरी तरह पाबंदी लगा दी है. पुलिस ने फ्लैग मार्च रिहर्सल किया. किसी भी अप्रिय स्थिति से निबटने के लिए छतों पर 13 लाइट मशीनगन तैनात कर दिये गये हैं. भारी संख्या में सुरक्षा बलों को भी तैनात कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें : अखिलेश और मायावती दोनों 'धोखेबाज' : शिवपाल

पूरे जिले में पीएसी और आरएएफ की दो कंपनियों के साथ ही 20 पुलिस इंस्पेक्टर, 83 सब इंस्पेक्टर, 97 हेड कॉन्सटेबल, 60 कॉन्सटेबल और 8 महिला कांस्टेबल की अतिरिक्त तैनाती की गयी है. इसके अलावा एसपी और दो सीओ पूरे जिले में घूमकर सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखेंगे.

वर्ष 2018 में गणतंत्र दिवस पर कासगंज में हुई हिंसा के आरोपी ने फेसबुक पर बंदूक के साथ तस्वीर पोस्ट करके कुछ भड़काऊ बातें लिख दी हैं. इसलिए पुलिस ने अभी से अतिरिक्त सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है. उस पोस्ट को को पुलिस ने डिलीट करवा दिया है. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

इसे भी पढ़ें : US Shutdown : मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के बदले ट्रंप ने दिया यह प्रस्ताव

कासगंज के सीओ गबेंद्र पाल गौतम ने बताया कि विशाल ठाकुर और अनुकल्प चौहान नामक दो युवकों ने सोशल मीडिया के जरिये शांति भंग करने की कोशिश की है. इन दोनों पर संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया गया है. केस दर्ज करने के बाद इन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

कासगंज के एसपी अशोक कुमार ने बताया कि गणतंत्र दिवस पर किसी तरह की गड़बड़ी करने वाले को बिल्कुल नहीं बख्शा जायेगा. पुलिस और प्रशासन इस राष्ट्रीय पर्व को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है. यही वजह है कि इलाके में किसी को भी तिरंगा यात्रा निकालने की इजाजत नहीं दी गयी है.

इसे भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश में पुलिस विवेचक ऑनलाइन ले सकेंगे कानूनी सलाह

उन्होंने कहा कि इलाके के असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जा रही है. इसके अलावा पिछले साल तिरंगा यात्रा में गड़बड़ी फैलाने वाले 26 लोगों को चिह्नित करके उन्हें हिरासत में ले लिया गया है. सुरक्षा में कोई चूक न हो, इसके लिए पूरे जिले को दो जोन में बांटा गया है. इस दो जोन में 8 सेक्टर और 85 ड्यूटी प्वाइंट बनाये गये हैं. इन प्वाइंट्स पर पुलिसकर्मियों के साथ मजिस्ट्रेट को भी तैनात किया गया है.

अफवाहों पर ध्यान न दें, पुलिस की अपील

पुलिस प्रशासन ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है. कहा है कि पुलिस प्रशासन की ओर से जारी होनी वाली सूचना पर ही लोग यकीन करें. लोगों से कहा गया है कि आस-पड़ोस में अगर कोई गड़बड़ी दिखे, तो तुरंत पुलिस प्रशासन को सूचित करें. किसी भी संभावित खतरे की सूचना स्थानीय थाना को फोन पर दें.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement