1. home Hindi News
  2. national
  3. covid vaccine news institute of liver transplantation and regenerative medicine chairman dr arvinder singh soin reaction on covishield vaccine first and second doses gap extended smb

कोरोना संक्रमित होने के बाद छह महीने तक वैक्सीन नहीं लगवाना और दो डोज के बीच गैप बढ़ाए पर जानिए डॉ. अरविंदर सिंह ने क्या कहा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Dr Arvinder Singh Soin
Dr Arvinder Singh Soin
ANI

Covishield Vaccine First And Second Doses Gap Extended देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से हो रही बढ़ोतरी के बीच कोविड वैक्सीन की किल्लत को लेकर कई तरह की खबरें सामने आ रही है. इस बीच गुरुवार को सरकार ने अहम फैसला लेते हुए जानलेवा बनी कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगाई जाने वाली कोविशील्ड वैक्सीन के दो डोज के बीच 12 से 16 हफ्ते का अंतराल रखने का निर्णय लिया है. इससे पहले यह अंतराल 6 से 8 हफ्ते का रखा गया था. हालांकि, कोवैक्सीन के दो डोज के बीच समयांतर में बदलाव की कोई सिफारिश नहीं की गयी है.

कोविशील्ड वैक्सीन के दो डोज के बीच बढ़ाए गए इस अंतराल पर इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर ट्रांसप्लांटेशन एंड रीजेनरेटिव मेडिसिन के चेयरमैन डॉ. अरविंदर सिंह सोइन ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इस निर्णय को सही बताया है. डॉ. अरविंदर सिंह सोइन ने कहा कि कोविशील्ड वैक्सीन के दो डोज के बीच 12 से 16 हफ्ते का अंतराल रखा जाना और कोरोना पॉजिटिव होने के बाद छह महीने तक टीका नहीं लगवाना दोनों ही सही दिशा में लिया गया फैसला है. इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने ट्वीट करते हुए कहा, कोविशील्ड वैक्सीन के दो डोज के बीच के गैप को 6 से 8 हफ्ते से बढ़ाकर 12 से 16 हफ्ते कर दिया गया है. ये फैसला कोविड वर्किंग ग्रुप की तरफ से की गई सिफारिशों के आधार पर लिया गया है.

कोविड वर्किंग ग्रुप ने कहा था कि गर्भवती महिलाओं को कोई भी टीका लगवाने का विकल्प दिया जा सकता है. मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि नेशनल टेक्नीकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन (एनटीएजीआई) ने यह भी कहा है कि जो लोग कोविड-19 से पीड़ित रह चुके हैं और जांच में उनके सार्स-सीओवी-2 से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है, उन लोगों को स्वस्थ होने के बाद 6 महीने तक वैक्सीन की डोज नहीं लगवाना चाहिए. जानकारी के मुताबिक, विभिन्न राज्यों में टीकों की कमी की खबरों के बीच केन्द्र सरकार ने यह फैसला लिया है. इससे पहले केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मार्च में राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से कहा था कि वह दो डोज के बीच समयांतर को 28 दिनों से बढ़ाकर 6 से 8 सप्ताह तक कर दें.

Upload By Samir

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें