जेटली के निधन पर बोले अमित शाह- प्रधानमंत्री का नजरिया लागू करने में अमिट छाप छोड़ी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर शनिवार को शोक जताते हुए कहा कि गरीबों के कल्याण और विश्व की सबसे तेज अर्थव्यवस्थाओं में भारत को शुमार करने के लिए प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को लागू करने में उन्होंने अमिट छाप छोड़ी है. अमित शाह ने कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पहुंच कर अरुण जेटली को श्रद्धांजलि अर्पित की.

जेटली (66) का यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में शनिवार को निधन हो गया. उनका पिछले कुछ हफ्तों से इलाज चल रहा था. भाजपा अध्यक्ष शाह ने एक संदेश में कहा कि विशिष्ट अनुभव और असाधारण क्षमताओं के साथ जेटली ने पार्टी और सरकार में विभिन्न जिम्मेदारियां निभायीं. शाह ने कहा कि एक बेहतरीन वक्ता और एक समर्पित कार्यकर्ता के तौर पर जेटली ने देश के वित्त मंत्री, रक्षा मंत्री और राज्यसभा में विपक्ष के नेता जैसे महत्त्वपूर्ण पद संभाले. उन्होंने कहा, अरुण जी ने 2014-19 की राजग सरकार के कार्यकाल के दौरान देश के वित्त मंत्री के तौर पर गरीबों के कल्याण और भारत को विश्व की सबसे तेज विकसित होती अर्थव्यवस्थाओं में शामिल करने के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को लागू करने में अमिट छाप छोड़ी है.

वहीं, केंद्रीय मंत्री एवं पार्टी के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र के नागपुर में कहा कि पूर्व वित्त मंत्री का निधन राष्ट्र, सरकार और भाजपा के लिए बड़ा नुकसान है. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, मैंने उन्हें करीब से देखा है जब उन्होंने विद्यार्थी परिषद के छात्र नेता के तौर पर शुरुआत की थी. वह देश के शीर्ष वकीलों में से एक थे जिन्हें तर्क करने का प्राकृतिक कौशल हासिल था. उन्होंने कहा कि जेटली ने भाजपा के विस्तार के लिए अत्याधिक योगदान दिया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें