25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Chanakya की कही ये 7 बातें मानेंगी तो घर में नहीं आएगी दरिद्रता, पति-बच्चे भी मानेंगे कहना

इस लेख में चाणक्य नीति के अनुसार महिलाओं के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं, जिनका पालन करने से वे अपने जीवन में सफलता पा सकती हैं. बचत, मृदु भाषी होना, कमाई उजागर न करना, अधिक गुस्सा, विश्वासघात, दुष्ट औरत, और झगड़ालू महिलाएं जैसे विषयों पर चाणक्य के विचार जानें.

चाणक्य नीति पूरे विश्व में विख्यात है. इन्हें अर्थशास्त्र का जनक कहा जाता है. चाणक्य को विष्णु गुप्त और कौटिल्य के नाम से भी जाना जाता है. राजा चंद्रगुप्त मौर्य को एक कुशल राजा के रूप में कुशलता पूर्वक राज्य को चलाने और उन में राजनीति की ज्यादा समझ को बढ़ाने में चाणक्य का ही योगदान माना जाता है. उन्होंने कई ऐसी बातें बताई हैं, जिनका अनुसरण कर व्यक्ति को सफलता हासिल करने के रास्ते मिल सकते हैं. चाणक्य ने ऐसे ही महिलाओं के लिए भी कुछ बातें कही हैं. उन्होंने अपने नीति शास्त्र में इसका वर्णन किया है. महिलाओं के लिए ऐसी कौन सी बातें चाणक्य ने कही हैं आज हम इस लेख में आपको बताने वाले हैं.

1. बचत

चाणक्य नीति के अनुसार जो महिला धन को बचाकर रखना जानती है, अगर उसके परिवार पर अचानक विपत्ति आती है तो खास नुकसान नहीं होता.

2. मृदु भाषी

चाणक्य के अनुसार जिसकी पत्नी मीठा बोलती है, वो व्यक्ति भाग्यशाली है. क्योंकि ऐसी महिलाएं कहीं भी रहें, उसके संबंध सभी से अच्छे रहते हैं और उसी से घर में खुशी रहती है. उसकी सभी तारीफ करते हैं. अत: स्त्री की वाणी मैं मधुरता होनी चाहिए.

also read:Body Odor: पसीने की बदबू से छुटकारा कैसे पाएं, जानिए होममेड उपाय

also read:गर्मियों में विटामिन-सी युक्त फल खाने से होते हैं ये फायदे, आप भी जानें

3. कमाई को न करें उजागर

चाणक्य नीति के अनुसार पति को अपनी पत्नी से कमाई नहीं बताना चाहिए. यदि अगर उसे आपकी कमाई का पता चल जाता है तो वो उस पर भी अधिकार जताते हुए आपके तमाम खर्चे को रोकने का प्रयास करेगी.

4. अधिक गुस्सा

कुछ महिलाएं स्वभाव से गुस्सैल होती है. ऐसी महिलाएं अपने पति से असंतुष्ठ ही रहती हैं. वे जरा-जरा सी बात में झगड़ा करने लगती हैं. इसके फल स्वरूप य रिश्तों में दरार आना शुरू हो जाती है.

also read:Beauty Tips: धूप से चेहरा पड़ गया काला? होम मेड फेस पैक से पाएं ग्लोइंग चेहरा

5. विश्वासघात


महिलाएं अपने पति पर आंख मूंद कर भरोसा करती हैं. यदि उसके इस भरोसे को ठेस पहुंचती है, तो वे दोबारा भरोसा नहीं कर पाती हैं. इनके मन में हर बार पति को लेकर सवाल आते रहते हैं, जिससे रिश्तों में शक पैदा होने लगता है.

6. दुष्ट औरत

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जिस घर में दुष्ट स्त्री रहती हैं, उस घर का स्वामी मृत व्यक्ति की तरह हो जाता है. ऐसी महिला कभी नहीं सुधर सकती. और यह घर में क्लेश का कारण होती है. ऐसी स्त्री के व्यवहार से उसका पति अंदर ही अंदर परेशान हो जाता है.

7. झगड़ालू महिलायें

चाणक्य के अनुसार कभी भी ऐसी स्त्रियों की दोस्ती नहीं रखती चाहिए, जो झगड़ालू होती हैं. ऐसी महिलाओं को दूसरों को अपमानित करने में खुशी मिलती है. ऐसी महिलाओं के साथ रहना या उनसे मेल-जोल रखना अपनी ही बर्बादी को न्यौता देने के बराबर है.

Disclaimer : इस लेख में दी गई जानकारी चाणक्य नीति के अनुसार है और इसे सामान्य ज्ञान के उद्देश्य से प्रस्तुत किया गया है. यह आवश्यक नहीं कि सभी विचार और बातें आज के समाज में पूरी तरह से प्रासंगिक या मान्य हों. पाठकों से अनुरोध है कि वे इन विचारों को अपने विवेक और परिस्थिति के अनुसार अपनाएं. यह लेख किसी विशेष व्यक्ति या समूह को ठेस पहुंचाने के लिए नहीं लिखा गया है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें