नववर्ष 2020 : जानें कैसा रहेगा बाजार का हाल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
शेयर बाज़ार बहुत नाटकीय दौर से गुजरेगा. आरंभ में कुछ तेजी के बाद शेयर बाज़ार में भारी गिरावट के संकेत मिलरहे हैं. दवाओं के शेयरों में उछाल आयेगा. प्रॉपर्टी में हल्की तेज़ी के बाद पहले विचित्र ठहराव और तत्पश्चात गिरावट दृष्टिगोचर होगी. कई और बिल्डर दिवालियेपन के कगार पर नजर आयेंगे. भारतीय मुद्रा में विचित्र बेचैनी नजर आयेगी. अमेरिकी डॉलर में कुछ उतार-चढ़ाव के बाद साल के उत्तरार्ध में डॉलर में बड़ी तेजी का योग है.
बढ़ेगा ऑनलाइन फ्रॉड
संवत 2076 (24 मार्च, 2020 तक)
24 मार्च, 2020 तक संवत 2076 रहेगा. उसके बाद 2077 अस्तित्व में आयेगा. दोनों संवत्सरों का विभिन्न प्रभाव रहेगा. प्रमादी सम्वत् 2076 के राजा शनि और मंत्री सूर्य हैं. शनि के राजा पद पर विराजने से अर्थव्यवस्था चिंतनीय. सूर्य के मंत्री होने से ऑनलाइन फ्रॉड बढ़ेगा. बैंकों की स्थिति बेचैन करेगी. बुध धान्याधीश हैं. लिहाजा चने की पैदावार अच्छी होगी. पश्चिमधान्येश के पद पर चंद्रमा के आसीन होने से सरसों, ज्वार, बाजरा, गेहूं और चावल की फ़सल उत्तम. दुग्ध उत्पादन में वृद्धि होगी. चांदी के भाव उछलेंगे. फलेश शनि के कारण सब्ज़ियां महंगी होंगी.
अस्थिर रहेगा सोने का भाव
संवत् 2077 (24 मार्च, 2020 के बाद)
संवत् 2077 के राजा बुध और मंत्री चंद्रमा होंगे. इस पर कालसर्प का प्रभाव. राजा बुध होने से फसल अच्छी होगी. चंद्रमा के मंत्री होने से उत्तम वर्षा तथा पुष्प, फलों, अन्न की पैदावार अच्छी. मध्येश सूर्य के से चना, दलहन, तिलहन, चावल की पैदावार उत्तम. रस्येश शनि से स्वर्ण का भाव अस्थिर. नीरशेष वृहस्पति से हल्दी व पीले रंग की वस्तुओं के व्यापार में तेज़ी. फलेश सूर्य कारण आम की पैदावार अच्छी. धनेश पद पर गुरु के आसीन होने से बड़े व्यापारी मोटा माल कमायेंगे. जनता ख़र्च से मुंह चुरायेगी. चंद्रमा के दुर्गेश होने से गोरस के व्यापार में लाभ होगा. चांदी में थोड़ी गिरावट, धान्येश मंगल वर्ष के मध्य चावल, गन्ना, घी व तेल में उछाल.
24 जनवरी, 2020 के बाद राशियों पर प्रभाव
24 जनवरी, 2020 की दोपहर 12 बजकर 4 मिनट पर जब शनि अपनी ही राशि मकर में जायेंगे, कुछ लोग नाचेंगे, मुसकुरायेंगे और कुछ बेचैन नजर आयेंगे.
मेष : शनि के गोचर से कोई सीधा प्रभाव नहीं. मेष राशि के जातक चैन की बांसुरी बजायेंगे. नये रिश्तों के सहयोग से कामयाबी.
वृष : शनि की अढ़ैया से मुक्ति. राहत की सांस लेंगे. आर्थिक उलझन के पश्चात लाभ मिलेगा.
मिथुन : शनि की अढ़ैया का आरंभ. आर्थिक तनाव के साथ दैहिक उलझनों की शुरुआत. माता-पिता को कष्ट होने से तनाव.
कर्क : कोई सीधा प्रभाव नहीं. सप्तम भाव में शनि रिश्तों में गांठ लगायेगा, पर मान-सम्मान को नयी ऊंचाई देगा.
सिंह : कोई सीधा प्रभाव नहीं. करियर को नया आकाश और मन में विश्वास देगा. जेब भारी रहेगी. प्रसन्नता तारी रहेगी.
कन्या : शनि की अढ़ैया से मुक्ति होगी. कोई अच्छी ख़बर दिल ख़ुश कर जायेगी. शारीरिक व्याधि से राहत मिलेगी.
तुला : शनि की अढ़ैया का आरंभ. बेचैनी बढ़ेगी. जीवनसाथी व परिजनों से विवाद का सूत्रपात होगा.
वृश्चिक : साढ़ेसाती से मुक्ति मिलेगी. स्वर्ण पाद का दूसरा शनि देश-विदेश घुमायेगा. खर्च करायेगा.
धनु : साढ़ेसाती से मुक्ति का जश्न मनायेंगे. लौह पाद का तीसरा शनि करियर को नया आसमान और जीवन को नयी उड़ान देगा.
मकर : साढ़ेसाती के अधीन. स्वर्ण पाद का प्रथम शनि शारीरिक कष्ट से नवाजेंगे. यह शिक्षा और अनुभवों से सम्मान की पृष्ठभूमि बनायेगा.
कुंभ : शनि की साढ़ेसाती का आरंभ. रजत पाद का द्वादश शनि आर्थिक संकोच का सूत्रपात करेगा, पर सत्कर्मों से आनंद भी देगा.
मीन : कोई सीधा प्रभाव नहीं. लौह पाद का एकादश शनि करियर में लाभ करायेगा, देश-विदेश घुमायेगा.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें