17.1 C
Ranchi
Friday, February 23, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeऑटोMichaung Cyclone की तबाही के बीच मारुति-महिंद्रा का बचाव कार्य शुरू, प्रभावित इलाकों में भेजी राहत सामग्री

Michaung Cyclone की तबाही के बीच मारुति-महिंद्रा का बचाव कार्य शुरू, प्रभावित इलाकों में भेजी राहत सामग्री

चक्रवात के असर से हुई भारी बारिश के कारण वेलच्चेरी और तांबरम सहित कई इलाकों में बाढ़ आ गई. बुधवार को भी लोगों को जलभराव वाले इलाकों में अपने घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाते देखा गया. अपने बच्चों को लेकर लोगों को सड़कों पर घुटनों तक भरे पानी के बीच से गुजरना पड़ा.

Michaung Cyclone Relief Operations by Auto Makers : बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान मिचौंग के प्रभाव से आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में भारी तबाही मचाई है. इस चक्रवाती तूफान की वजह से इन दोनों प्रदेशों में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. नदियों का जलस्तर बढ़ गया है और बाढ़ की स्थिति बन गई है. स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. व्यापारिक संस्थानों और आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह ठप है. इस चक्रवाती तूफान की वजह से मारुति, महिंद्रा, ऑडी, हुंडई आदि के उत्पादन संयंत्रों में निर्माण कार्य पूरी तरह से बंद कर दिया गया है. इस बीच, वाहन निर्माता कंपनियों में मारुति सुजुकी इंडिया, महिंद्रा एंड महिंद्रा, हुंडई मोटर इंडिया और लग्जरी कार बनाने वाली कंपनी ऑडी ने मिचौंग का कहर झेल रहे आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है.

मारुति ने 46 ट्रकों से भेजी राहत सामग्री

मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, मारुति सुजुकी इंडिया, महिंद्रा एंड महिंद्रा, हुंडई मोटर तथा लक्जरी कार विनिर्माता ऑडी ने तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के चक्रवात तथा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में ग्राहकों को सहायता प्रदान की है. मारुति सुजुकी इंडिया की ओर से जारी बयान के अनुसार, उसने अपने डीलर भागीदारों के साथ सहयोग किया है और अपनी वर्कशॉप में कई व्यवस्थाएं की हैं. चक्रवात ‘मिचौंग’ की खबर मिलते ही कंपनी ने करीब सात लाख संदेश (एसएमएस) भेजे. इसमें ग्राहकों को एहतियाती कदमों की जानकारी दी गई, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि चक्रवात की चपेट में आने से पहले ही ग्राहक अपनी कारों को संभावित नुकसान से बचाने के लिए कदम उठा लें. कंपनी के अनुसार, पड़ोसी शहरों में 46 टो ट्रक और त्वरित कार्रवाई के लिए 34 सहायता वाहनों की व्यवस्था की गई.

सड़क किनारे फ्री में गाड़ियों को मरम्मत कर रही महिंद्रा

उधर, महिंद्रा एंड महिंद्रा ने की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि उसने प्रभावित क्षेत्रों में अपने ग्राहकों को विशेष छूट के जरिये सड़क किनारे सहायता देना शुरू कर दिया है. बिना किसी शुल्क के वाहन की जांच, क्षति का आकलन किया जा रहा है और वित्तीय राहत दी जा रही है. इसके साथ, ऑडी ने भी चेन्नई में बाढ़ से प्रभावित ग्राहकों को उनके वाहनों के लिए चौबीसों घंटे सड़क किनारे सहायता मुहैया कराने की घोषणा की है.

तीन करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी हुंडई मोटर

ऑडी इंडिया के प्रमुख बलबीर सिंह ढिल्लों ने कहा कि चेन्नई शहर में सामने आ रही चुनौतियों के मद्देनजर हम शहर में अपने ग्राहकों की सहायता के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं. उधर, हुंडई मोटर इंडिया की सीएसआर (कॉरपोरेट सामाजिक दायित्व) इकाई हुंडई मोटर इंडिया फाउंडेशन (एचएमआईएफ) ने तमिलनाडु में चक्रवात से प्रभावित लोगों की मदद के लिए तीन करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की है.

Also Read: Maruti, महिंद्रा, हुंडई और होंडा की लग गई लॉटरी, SUV कारों की रिकॉर्डतोड़ बिक्री से बरस रहीं लक्ष्मी

चेन्नई में मिचौंग से भारी तबाही

चेन्नई और उसके आसपास के जिलों में चक्रवात ‘मिचौंग’ द्वारा भारी तबाही मचाने के दो दिन बाद बुधवार को भी स्थानीय लोगों को जलभराव और बिजली कटौती की समस्या से जूझना पड़ा. स्थानीय एजेंसियों के कर्मचारियों ने राहत और बचाव के प्रयास तेज कर दिए हैं. इस बीच, सरकार ने कहा कि कुछ इलाकों में बिजली के तार पानी में गिरने के कारण एहतियाती उपाय के तौर पर बिजली काटी गई है, जबकि सामान्य स्थिति बहाल किए जाने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं. चेन्नई में एक और दिन सात दिसंबर के लिए स्कूलों तथा कॉलेजों में छुट्टी घोषित की गई है.

Also Read: मिचौंग की मार : चेन्नई में हुंडई के प्लांट में कार बनाने का काम ठप, चक्रवाती तूफान का कहर जारी

वेलच्चेरी और तांबरम समेत कई इलाकों में बाढ़

चक्रवात के असर से हुई भारी बारिश के कारण वेलच्चेरी और तांबरम सहित कई इलाकों में बाढ़ आ गई थी. बुधवार को भी लोगों को जलभराव वाले इलाकों में अपने घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाते देखा गया. अपने बच्चों को लेकर लोगों को सड़कों पर घुटनों तक भरे पानी के बीच से गुजरना पड़ा. लोगों ने सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए और अधिक नौकाएं भेजने सहित अन्य मदद के लिए गुहार लगाई. मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने बारिश से प्रभावित कई इलाकों का दौरा किया और शहर के एक राहत केंद्र में आश्रय ले रहे लोगों को भोजन और आवश्यक सामग्री वितरित कीं. उन्होंने शहर के स्थानीय निकाय द्वारा जल निकासी के लिए किये जा रहे प्रयासों का भी जायजा लिया.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें