28.8 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Make In India: अब जापान नहीं भारत में बनेगी Bullet Train, 250km की टॉप स्पीड!

Bullet Train: भारत वर्तमान में अहमदाबाद से मुंबई लाइन पर चलने वाली बुलेट ट्रेनों के लिए जापानी तकनीक पर निर्भर है, जो वर्तमान में निर्माणाधीन है. मुंबई-अहमदाबाद मार्ग पर भारत द्वारा तैनात करने की योजना वाली शिंकानसेन E5 श्रृंखला की बुलेट ट्रेनें 320 किमी प्रति घंटा तक की गति तक पहुंच सकती हैं.

Bullet Train: मेक इन इंडिया बुलेट ट्रेन जल्द ही! भारत सरकार ने एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के अनुसार, 250 किलोमीटर प्रति घंटे (किमी प्रति घंटा) से अधिक की गति को पार करने में सक्षम एक स्वदेशी बुलेट ट्रेन के विकास की शुरुआत की है. इस ट्रेन के भारतीय रेलवे नेटवर्क पर वर्तमान में चलने वाली सभी मौजूदा ट्रेनों को पछाड़ने की उम्मीद है.

वंदे भारत प्लेटफॉर्म पर होगा निर्माण

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, “यह वंदे भारत प्लेटफॉर्म पर बनाया जा रहा है जो पहले से ही 220 किमी प्रति घंटा की अधिकतम गति को प्राप्त कर सकता है.” इस हाई-स्पीड ट्रेन के लिए डिजाइन चेन्नई स्थित भारतीय रेलवे के इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) में विकसित किए जा रहे हैं. वैश्विक संदर्भ में, हाई-स्पीड ट्रेनों को 250 किमी प्रति घंटा से अधिक गति से चलने में सक्षम माना जाता है, जैसे कि फ्रेंच टीजीवी और जापानी शिंकानसेन.

Xiaomi ने दो नए Bluetooth Speaker किया लॉन्च, अब पानी के अंदर भी मचेगी धूम

भारत वर्तमान में अहमदाबाद से मुंबई लाइन पर चलने वाली बुलेट ट्रेनों के लिए जापानी तकनीक पर निर्भर है, जो वर्तमान में निर्माणाधीन है. मुंबई-अहमदाबाद मार्ग पर भारत द्वारा तैनात करने की योजना वाली शिंकानसेन E5 श्रृंखला की बुलेट ट्रेनें 320 किमी प्रति घंटा तक की गति तक पहुंच सकती हैं.

भारतीय रेलवे ट्रेनों की गति बढ़ाने

अधिकारी ने बताया कि अब तक का प्राथमिक ध्यान भारतीय रेलवे ट्रेनों की गति बढ़ाने पर रहा है. उन्होंने कहा, “(प्रस्तावित) वैरिएंट वंदे भारत ट्रेनें अब 52 सेकंड में शून्य से 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ सकती हैं, जबकि मौजूदा बुलेट ट्रेनें इसे 54 सेकंड में करती हैं.”

मेड-इन-इंडिया बुलेट ट्रेनें हाल ही में घोषित उत्तर, दक्षिण और पूर्व गलियारों पर चलेंगी

वंदे भारत ट्रेनें, जो स्वदेशी रूप से विकसित हैं, आईसीएफ द्वारा निर्मित हैं. मेड-इन-इंडिया बुलेट ट्रेनें हाल ही में घोषित उत्तर, दक्षिण और पूर्व गलियारों पर चलेंगी. अधिकारी ने कहा, “नए गलियारे अधिक भारतीय तकनीक और घरेलू विनिर्माण का उपयोग करेंगे.”

Best Air Cooler: बिना पानी के चलते हैं ये किफायती एयर कूलर्स, देखें लिस्ट में कौन-कौन

मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल परियोजना के लिए लगभग 40,000 करोड़ रुपये का सॉफ्ट लोन

ये कॉरिडोर जापान के सहयोग से विकसित पश्चिमी कॉरिडोर का पूरक होंगे और जापानी तकनीक का उपयोग करेंगे. जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी (JICA) मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल परियोजना के लिए लगभग 40,000 करोड़ रुपये का सॉफ्ट लोन प्रदान कर रही है, जिसमें कुल परियोजना लागत 1.08 लाख करोड़ रुपये से अधिक है.

508 किमी के खंड के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया जनवरी में अंतिम रूप से संपन्न हुई थी

नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NHSRCL), भारत की पहली बुलेट ट्रेन परियोजना को लागू करने के लिए जिम्मेदार, ने हाल ही में 300 किमी के पियर कार्य को पूरा करने की घोषणा की. पूरे 508 किमी के खंड के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया जनवरी में अंतिम रूप से संपन्न हुई थी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें