1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. hero motocorp maruti suzuki tata motors auto sales report corona lockdown impact get details here rjv

Hero MotoCorp की सेल मई में घटकर हो गई आधी, जानें पूरे ऑटो सेक्टर का हाल

By Agency
Updated Date
car and bike sales report
car and bike sales report
fb

कोरोना और लॉकडाउन का असर ऑटो मार्केट पर भी पड़ा है. अप्रैल के बाद मई के महीने में भी भारत में गाड़ियां बनाने वाली कंपनियों की बिक्री में गिरावट देखी गई है. इसकी बड़ी वजह यह रही कि कंपनियों को कोविड -19 की दूसरी लहर के बीच मैन्युफैक्चरिंग बंद करनी पड़ी.

देश की सबसे बड़ी दोपहिया वाहन विनिर्माता कंपनी हीरो मोटोकॉर्प ने कहा है कि उसने पिछले महीने 1,83,044 दोपहिया बेचे जो इस साल अप्रैल में बेची गयीं 3,72,285 इकाइयों से 51 प्रतिशत कम है. कंपनी ने एक बयान में कहा कि देश में महामारी के कारण लगाये गए लॉकडाउन के साथ उसके संयंत्रों में कामकाज रुकने की वजह से पिछले महीने उसकी बिक्री पर प्रतिकूल असर पड़ा.

दोपहिया वाहन निर्माता कंपनी ने अग्रसक्रियता के साथ 22 अप्रैल को देश भर में अपने विनिर्माण संयंत्रों में कामकाज रोक दिया था. गुरुग्राम, हरिद्वार और धारुहेरा में स्थित उनके तीन संयंत्रों में 17 मई से एक पाली में कामकाज बहाल हो गया और इसके बाद नीमराणा, हलोल तथा चित्तूर के तीन और संयंत्रों में भी 24 मई से कामकाज शुरू कर दिया गया.

कंपनी ने कहा कि अप्रत्याशित स्थिति को देखते हुए मई में हुई बिक्री की तुलना पिछले साल के इसी महीने और इस साल के दूसरे महीनों के साथ नहीं की जा सकती. हीरो मोटोकॉर्प ने कहा कि कंपनी स्थिति पर करीब से नजर बनाये हुए है और धीरे-धीरे दोनों पालियों में उत्पादन शुरू करेगी.

महामारी की दूसरी लहर की मार से कार बिक्री में भी भारी गिरावट आयी है. देश की प्रमुख वाहन कंपनियों मसलन मारुति सुजुकी, हुंदै, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स और टोयोटा किर्लोस्कर की वाहन बिक्री में मई महीने में अप्रैल के मुकाबले बड़ी गिरावट दर्ज हुई. कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बीच विभिन्न राज्यों में लगाये गये लॉकडाउन की वजह से इन कंपनियों का उत्पादन और आपूर्ति प्रभावित हुई.

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने औद्योगिक इस्तेमाल की ऑक्सीजन को चिकित्सा इस्तेमाल के लिए उपलब्ध कराने के लिए एक से 16 मई तक अपना उत्पादन बंद रखा. मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की कुल बिक्री अप्रैल के मुकाबले मई में 71 प्रतिशत घटकर 46,555 इकाई रह गई. अप्रैल में कंपनी ने 1,59,691 वाहन बेचे थे.

कंपनी ने कहा कि मई में घरेलू बाजार में डीलरों को उसकी आपूर्ति 75 प्रतिशत घटकर 35,293 इकाई रह गई, जो इससे पिछले महीने 1,42,454 इकाई रही थी. माह के दौरान कंपनी की मिनी कारों- ऑल्टो और एस-प्रेसो की बिक्री 81 प्रतिशत घटकर 4,760 इकाई रह गई. अप्रैल में यह आंकड़ा 25,041 इकाई रहा था.

कॉम्पैक्ट खंड में स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर की बिक्री 72 प्रतिशत घटकर 20,343 इकाई रही, जो अप्रैल में 72,318 इकाई रही थी. मध्यम आकार की सेडान सियाज की बिक्री घटकर 349 इकाई रह गई. अप्रैल में यह 1,567 इकाई रही थी. कंपनी के यूटिलिटी वाहनों विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस और अर्टिगा की बिक्री 75 प्रतिशत घटकर 6,355 इकाई रह गई, जो एक महीने पहले 25,484 इकाई रही थी.

मई में कंपनी का निर्यात 35 प्रतिशत घटकर 11,262 इकाई रह गया. अप्रैल में कंपनी ने 17,237 वाहनों का निर्यात किया था. मारुति की प्रतिद्वंद्वी हुंदै मोटर इंडिया लिमिटेड (एचएमआईएल) की घरेलू बाजार में बिक्री 49 प्रतिशत घटकर 25,001 इकाई रह गई, जो अप्रैल 2021 में 49,002 इकाई थी. कंपनी ने बताया कि विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू प्रतिबंधों के कारण डीलरों को गाड़ियां भेजने में बाधा आई.

अन्य प्रमुख घरेलू वाहन कंपनी टाटा मोटर्स की यात्री वाहनों की घरेलू बाजार में बिक्री 40 प्रतिशत घटकर 15,181 वाहनों की रही, जो अप्रैल में 25,095 इकाई रही थी. इसी तरह महिंद्रा एंड महिंद्रा की घरेलू यात्री वाहन बिक्री मई में 56 प्रतिशत घटकर 8,004 इकाई रह गई, जो अप्रैल 2021 में 18,285 इकाई रही थी. टोयोटा किर्लोस्कर मोटर की बिक्री मई में 707 इकाई रही. अप्रैल में कंपनी की बिक्री 9,622 इकाई रही थी. पिछले साल मई में कंपनी ने 1,639 वाहन बेचे थे.

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नवीन सोनी ने एक बयान में कहा, पिछले महीने बिदाडी के हमारे कारखाने में कोई उत्पादन नहीं हुआ. देश के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन और जरूरी प्रतिबंधों के चलते बिक्री कारोबार भी काफी कम रहा. ऐसे में पिछले महीने (मई 2021) के आंकड़ों को एक साल पहले मई के आंकड़ों के साथ तुलना करना ज्यादती होगी. मई 2020 में परिचालन और बिक्री दोनों ही धीरे धीरे शुरू हो गये थे.

होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर के बीच मई में घरेलू बाजार में 2,032 वाहन बेचे. एक अन्य कार कंपनी एमजी मोटर इंडिया की बिक्री मई में 1,016 इकाई रही. कंपनियों का कहना है कि कोराना वायरस की दूसरी लहर के प्रभाव को रोकने के लिये विभिन्न राज्यों में लगाये गये लॉकडाउन का कारोबार पर असर रहा. कारखानों में इस्तेमाल होने वाली ऑक्सीजन को भी चिकित्सा उपयोग के लिए दिया गया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें