1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. coronavirus car service maruti suzuki mahindra and mahindra hyundai renault maruti car service

Corona Effect: कार सर्विसिंग के साथ अब सैनिटाइजेशन की भी सुविधा दे रहीं ऑटो कंपनियां

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
car service process change after coronavirus outbreak
car service process change after coronavirus outbreak
file photo

जयपुर : कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के बीच वाहनों के संक्रमित होने की आशंका को देखते हुए प्रमुख कार कंपनियों ने वाहनों को सैनेटाइज व संक्रमण मुक्त करने की सेवा भी शुरू कर दी है. जयपुर में महिंद्रा, ह्यूंडई और मारुति नेक्सा के सर्विस सेंटर तथा वर्कशॉप ने ऐसी सेवाएं देनी शुरू की हैं जिनकी लागत 175 रुपये से 1500 रुपये तक है.

इस बीच वाहन डीलरों के शीर्ष संगठन 'फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन' (एफएडीए) ने कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर कर्मचारियों व ग्राहकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए विस्तृत परामर्श जारी किया है.

प्रमुख वाहन कंपनी महिंद्रा के वर्कशॉप में वाहनों को संक्रमण मुक्त करने की सुविधा है. वर्कशॉप के एक सर्विस मैनेजर के अनुसार गाड़ी/ मॉडल के हिसाब से इसका शुरुआती शुल्क 899 रुपये है. फिलहाल इसके लिए धूम्रीकरण (फ्यूमीगेशन) प्रक्रिया अपनायी जा रही है, जिसमें एक फॉगिंग मशीन से पूरी गाड़ी के अंदर फॉगिंग की जाती है ताकि वह संक्रमण मुक्त हो जाए.

ऐसी ही सुविधा ह्यूंडई ने भी शुरू की है जिसका शुरुआती शुल्क 1000 रुपये है. वहीं, मारुति फिलहाल यहां केवल वाहन सैनिटाइजेशन सेवा दे रही है. यहां नेक्सा सर्विस के प्रबंधक के अनुसार वाहन को भीतर और बाहर से सैनिटाइज करने की सेवा दी जा रही है जिसकी शुरुआत शुल्क 175 रुपये (कर अतिरिक्त) है. हालांकि कंपनी ने गाड़ी को संक्रमण मुक्त करने की सेवा अभी यहां शुरू नहीं की है.

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस संक्रमण से निबटने के लिए देश भर में जारी लॉकडाउन में ढील के बीच प्रमुख वाहन कंपनियों के डीलर और वर्कशॉप भी अब खुलने लगे हैं. हालांकि उनमें कड़े सुरक्षा उपाय अपनाये जा रहे हैं ताकि वायरस संक्रमण नहीं फैले. फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन ने देश भर में 15,000 से अधिक अपने सदस्य डीलरों को आगाह किया है कि अपने शोरूम और वर्कशाप में सुरक्षा के सभी प्रोटोकॉल अपनाएं ताकि किसी तरह की दिक्कत खड़ी नहीं हो.

संगठन के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले के अनुसार मौजूदा हालात में हमें और अधिक संवेदनशीलता व तत्परता से कदम उठाने होंगे ताकि कोरोना वायरस से उपजे संकट में ग्राहकों के भरोसे को फिर से बहाल किया जा सके. फेडरेशन ने डीलरों को लिए विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए हैं जिनमें एक शोरूम या वर्कशाप में आने और जाने वाले सभी वाहनों का धूम्रीकरण शामिल है.

यूरोपीय वाहन कंपनी रेनॉ इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा, रेनॉ इंडिया ने अपने सभी परिसरों को पूरी तरह से धूम्रीकरण के बाद ही खोला है. इसके अलावा कर्मचारियों को स्क्रीनिंग के बाद ही काम पर ले रही है और ग्राहकों के लिए सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेसिंग मानकों का पालन अनिवार्य है.

उद्योग जगत के सूत्रों के अनुसार, बदले हालात में वाहन कंपनियां अपनी प्रक्रिया के डिजिटलाइजेशन पर भी जोर दे रही हैं जिसके तहत वाहन की टेस्ट ड्राइव से लेकर सर्विस तक की आनलाइन बुकिंग, बिल वगैरह ईमेल या व्हाटसऐप पर भेजना शामिल है. वाहन कंपनियों ने अपने शोरूम और वर्कशॉप में आने वाले सभी कर्मचारियों और ग्राहकों के लिए मास्क पहनना, सैनिटाइजर का इस्तेमाल अनिवार्य कर दिया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें