1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. birbhum violence minor kian sheikh who witness to the rampurhat incident told the story of that black night smb

Birbhum Violence: रामपुरहाट कांड के गवाह रहे नाबालिग कियान शेख ने सुनाई उस रात की कहानी

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के रामपुरहाट एक ब्लॉक के बड़शाल ग्राम पंचायत अधीन बागटुई ग्राम में गत सोमवार की काली रात में जो हुआ वह कियान शेख को आज भी सता रहा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Birbhum Violence: बागटुई ग्राम में सोमवार की काली रात में जो हुआ, कियान शेख को वह आज भी सता रहा
Birbhum Violence: बागटुई ग्राम में सोमवार की काली रात में जो हुआ, कियान शेख को वह आज भी सता रहा
प्रभात खबर

Birbhum Violence: पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के रामपुरहाट एक ब्लॉक के बड़शाल ग्राम पंचायत अधीन बागटुई ग्राम में गत सोमवार की काली रात में जो हुआ वह कियान शेख को आज भी सता रहा है. इसलिए बागटुई में रामपुरहाट कांड का गवाह बना यह नाबालिग, चाहता है कि काकीमा नजिमा बीबी के हत्यारों को फांसी मिले. सोमवार को नाबालिग कियान को रामपुरहाट अस्पताल में इलाज के दौरान काकी मां नजीमा की मौत की खबर मिली. उस दिन आग में कियान शेख का भी दाहिना हाथ और शरीर का दाहिना हिस्सा आग में जलकर घायल हो गया था.

दो दिन पहले कियान शेख को अस्पताल से मिली थी छुट्टी

फायर बिग्रेड ने घटना वाली रात को पश्चिम पाडा के ईदगाह के पास से बचाया और अस्पताल में भर्ती कराया था. दो दिन पहले कियान शेख को अस्पताल से छुट्टी मिली थी. कल वह पुनः अस्पताल में जांच के लिए आया था, तभी काकीमा नजिमा बीबी की मौत की खबर सुनी. उसे पुलिस सुरक्षा में मेडिकल कॉलेज लाया गया था. वहां कियान ने कहा, उस रात एक ही कमरे में सात या आठ लोग थे. काकीमा नजीमा भी थीं. रात के नौ बजे थे. अचानक उनके घरों में बम फटने लगे .इससे पहले कि वह कुछ समझ पाता, आग का एक गोला उसके शरीर के दाहिने हिस्से में लग गया. कियान ने घर से भागने की कोशिश की.

कियान का दावा, उसने उस रात कुछ लोगों को पहचाना है

उल्लेखनीय है कि गत 21 मार्च को बड़शाल  पंचायत के उप प्रधान भादू शेख की बागटुई में हुए बम विस्फोट में हत्या कर दी गयी थी. नतीजतन, शाम को कई घरों पर हमला किया गया था. कियान का दावा है कि उसने उस रात कुछ लोगों को पहचाना है. शेख रुस्तान, शेख मोफिज़ुल को अपनी आंखों से देखा. वे एक के बाद एक घरों में आग लगा रहे थे. उनके साथ और कई लोग उनके दल में शामिल थे. 10-12 घरों में आग लगा दी गई. अस्पताल के बिस्तर पर लेटे-लेटे उसने सुना कि उसके रिश्तेदारों को पुरब पाड़ा में घर के अंदर जलाकर मार दिया गया है. कियान ने कहा, काकीमा समेत कुल नौ लोगों की मौत हो गई है .जो पहले मर चुके हैं वे मेरी छोटी मां, नई मां, दादी, चाची, चचेरे भाई थे.मैं चाहता हूं कि उन्हें सजा मिले. कोर्ट उन्हें फांसी दे.

कलकत्ता हाई कोर्ट ने सीबीआई जांच का आदेश दिया

इस बीच, कलकत्ता उच्च न्यायालय ने बागटुई गांव में लगी आग की सीबीआई जांच का आदेश दिया है, लेकिन यह निर्दिष्ट नहीं किया है कि उप प्रधान भादू शेख की मौत की जांच का प्रभारी कौन होगा. प्रधान विचापति प्रकाश श्रीवास्तव तथा राजश्री भारद्वाज की खंडपीठ ने भादू शेख की हत्या को लेकर अभी तक कोई उपयुक्त जांच का निर्णय नहीं दिया है. जिसके कारण भादू की मौत का मामला अधर में है. कलकत्ता उच्च न्यायालय में कल एक मामला दायर कर उनसे स्पष्टीकरण मांगा गया है. कांग्रेस की ओर से वकील कौस्तव बागची ने केस दर्ज कराया है. मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ में आज मंगलवार को आपातकालीन आधार पर मामले की सुनवाई होने की संभावना है. इधर, सीबीआई मोहरलाल को हिरासत में लेकर अपने अस्थायी कैम्प में ले गयी है.सीबीआई घटना की रात की पूरी जानकारी जुटा रही है. (रिपोर्ट: मुकेश तिवारी)

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें