28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

विश्व भारती में छात्रों का प्रदर्शन जारी, विभिन्न मांगों को लेकर कुलपति का देर रात किया घेराव

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के बोलपुर शांति निकेतन स्थिति विश्वभारती के छात्र-छात्राओं ने विभिन्न मांगों को लेकर कुलपति का देर रात घेराव किया . कुलपति ने कहा कि छात्रों की शिकायत झूठी है. इस पर चर्चा हुई है, अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के बोलपुर शांति निकेतन स्थिति विश्वभारती के छात्र-छात्राओं द्वारा विभिन्न मांगो को लेकर विश्व भारती के कुलपति को उनके केंद्रीय कार्यालय में बुधवार देर रात घेराव कर जमकर प्रदर्शन किया गया. गुरुवार की सुबह से ही फिर छात्राें का प्रदर्शन शुरु हो गया है. छात्र लगातार कुलपति के इस्तीफे की मांग कर रहे है. इसे लेकर शांति निकेतन के केंद्रीय कार्यालय में अफरा-तफरी मच गयी थी. मध्य रात सुरक्षा गार्ड के सहयोग के बाद कुलपति को घेराव मुक्त कराया गया.

Also Read: बंगाल में मिथुन ने कहा केंद्रीय परियोजनाओं का मुख्यमंत्री पहले हिसाब दे फिर मांगे पैसा
आरोप है कि  कुलपति के कारण शिक्षा स्तर नीचे  गिर गया है 

छात्र- छात्राओं का आरोप है की कुलपति के अड़ियल रवैया के कारण विश्व भारती में शिक्षा का माहौल नीचे गिर गया है . छात्रों ने कुलपति के इस्तीफे की मांग की है. छात्रों ने आरोप लगाया कि स्थिति नियंत्रण से बाहर होने पर छात्र छात्राओं पर कुलपति ने अपने सुरक्षा गार्डों को गोली चलाने का आदेश दिया था . इसके बाद आक्रोशित छात्रों ने उन्हें कार्यालय में ही घेर लिया. जब उन्होंने कुलपति को छुड़ाने की कोशिश की तो सुरक्षा गार्डों की छात्रों से झड़प और हाथापाई हो गई. मारपीट में एक सुरक्षा गार्ड और एक छात्र घायल हो गया .

देर रात छात्रों ने  कुलपति आवास का घेराव कर किया  प्रदर्शन

छात्रों का आरोप है कि बिना किसी से सलाह लिए फैसले लेने से कैंपस में डर का माहौल है. छात्रों ने शिकायत की है कि इन मुद्दों को लेकर विरोध करने के कारण दो छात्र नेताओं की उच्च शिक्षा सवालों के घेरे में आ गई है. इन सवालों को उठाते हुए छात्रों के एक समूह ने कुलपति को उनके केंद्रीय कार्यालय में घेर लिया. इससे पहले केंद्रीय कार्यालय और कुलपति आवास का घेराव कर विरोध प्रदर्शन किया गया था, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि कुलपति को उनके ही कार्यालय में घेरा गया था. घेराबंदी मध्य रात तक चली. कुलपति केंद्रीय कार्यालय में डटे हुए थे. प्रदर्शनकारी छात्र नेताओं में मीनाक्षी भट्टाचार्य और सोमनाथ साव ने कहा कि विभिन्न मांगों को लेकर आंदोलन के कारण हमारे शोध और उच्च शिक्षा में दिन प्रतिदिन बाधा आ रही है.

कुलपति के इस्तीफे की मांग 

कुलपति केवल अपने प्रतिशोध के लिए ऐसा कर हमारे भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं. एक बार भी हमारे साथ चर्चा नहीं करना चाहते. इस प्रकार सत्ता का दुरुपयोग कर हमें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है. हम उनके इस्तीफे की मांग को लेकर धरना और कार्यालय का घेराव जारी रखे थे. दूसरी ओर कुलपति विधुत चक्रवर्ती ने छात्रों के खिलाफ उत्पीड़न का आरोप लगाया है. कुलपति ने कहा कि छात्रों की शिकायत झूठी है.इस पर चर्चा हुई है, अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है. मुझे जबरन छात्र छात्रा बल पूर्वक मेरे कार्यालय में घेरे रखे थे. गोली चलाने के आदेश को लेकर कुलपति ने कहा, मैं कोई टिप्पणी नहीं करूंगा.

Also Read: बंगाल: बकाया डीए को लेकर सरकारी कर्मचारियों का हिंसक प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

रिपोर्ट : मुकेश तिवारी पानागढ़

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें