मयनागुड़ी : अवैध खनन के खिलाफ लोगों का फूटा गुस्सा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मयनागुड़ी : कानून की परवाह ना करते हुए धड़ल्ले में नदी से बालू-पत्थर निकालने का गोरखधंधा चल रहा है. जिसके कारण नदियों के कटाव से इलाकेवासियों का घर बहता जा रहा है. आखिरकार आक्रोशित इलाकेवासियों ने ही अवैध तरीके से खनन करने वाले बालू के ट्रक को घेर लिया. खबर पाकर मयनागुड़ी थाना पुलिस व मयनागुड़ी ब्लॉक भूमि व भूमि राजस्व विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे. मयनागुड़ी ब्लॉक के आमगुड़ी बाजार के पास कलखावा नदी किनारे यह घटना हुई है.

स्थानीय लोगों का आरोप है कि इस संबंध में प्रशासन से शिकायत करने का भी कोई फायदा नहीं हो रहा है. स्थानीय निवासी रथींद्र राय, कृष्ण राय आदि ने कहा कि बीएलआरओ, पुलिस, बीडीओ के पास कई बार लिखित तौर पर जानकारी दी गयी है.
लेकिन कोई स्थायी समाधान नहीं निकलता है. कुछ दिनों तक खनन बंद रहता है लेकिन वापस वही सिलसिला शुरू हो गया. इससे परेशान लोगों ने आखिरकार बुधवार को बालु लदे दो ट्रकों को जब्त कर लिया.
ग्रामीणों का कहना है कि नदी के कटाव वाले इलाके में इस तरह से बालू-पत्थर निकालने के मामले में प्रशासन बिल्कुल खामोश है. धड़ल्ले से बालू-पत्थर निकालने के कारण नदी का रास्ता बदल गया है. बागान बाजार से कलखावा सेतु के नोआपाड़ा इलाके तक विस्तीर्ण इलाके में अवैध बालू-खनन चल रहा है. इससे धीरे धीरे यह इलाका नदी में समाता जा रहा है.
जल्द ही इसे रोका नहीं गया तो इलाके के लोगों का घर व जमीन भी नदी में समा जायेगा. मयनागुड़ी ब्लॉक भूमि राजस्व विभाग के अधिकारी सुमित भट्टाचार्य ने कहा कि इलाके से बालू निकालना गैरकानूनी है. कई इलाके में इसके खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है. कई गाड़ियों को जुर्माना लगाया गया है. गाड़ियां जब्त की गयी है. यह अभियान फिलहाल जारी रहेगा.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें