बीजेपी कार्यकारिणी में यूपी सरकार पर हमला, नरेंद्र मोदी की जयकार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर भाजपा की कार्यकारिणी भी यूपी में ही आयोजित की गयी, जिसमें भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने जमकर अखिलेश सरकार पर निशाना साधा और भाजपा नीत सरकार की उपलब्धियां गिनाईं. पार्टी अध्यक्ष शाह ने कार्यकारिणी की बैठक में कैराना से हिंदुओं के कथित पलायन का मुद्दा उठाकर सपा सरकार पर निशाना साधा है. आज एक रैली के साथ भाजपा कार्यकारिणी की बैठक संपन्न हो जायेगी. वैश्विक आर्थिक मंदी के बावजूद भारत को एक ‘दमकता' देश बनाने का श्रेय मोदी सरकार को देते हुए भाजपा ने अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले आज भरोसा जताया कि ‘गरीबों की जिंदगी में बदलाव होगा'.

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में यहां पारित किये गये एक आर्थिक प्रस्ताव में पार्टी ने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘असाधारण नेतृत्व' में भारत सबसे तेजी से बढती अर्थव्यवस्था के तौर पर उभरा है. पार्टी ने एक ‘बेहद बुरी अर्थव्यवस्था' छोडकर जाने के लिए कांग्रेस की अगुवाई वाली पिछली यूपीए सरकार पर निशाना साधा. प्रस्ताव में कहा गया कि आर्थिक विशेषज्ञ, थिंक टैंक, बहुपक्षीय संस्थाएं और प्रतिष्ठित मीडिया ने भारत की विकास गाथा को स्वीकार किया है और मोदी सरकार की विभिन्न योजनाओं एवं पहलों की तारीफ की है.

पार्टी की ओर से पारित प्रस्ताव में दावा किया गया कि यूपीए सरकार के समय अंतरराष्ट्रीय समुदाय भारत को खारिज करने लगा था और इसे ‘पिछडी अर्थव्यवस्था' करार दिया जाता था और यूपीए सरकार का अंतिम दो साल का शासनकाल उद्योग, आधारभूत संरचना, कीमतों में स्थिरता, बैंकिंग क्षेत्र की सेहत, बाह्य क्षेत्र के असंतुलनों और वित्तीय प्रबंधनों के मामले में बदतर था. प्रस्ताव में कहा गया कि मोदी सरकार के कार्यकाल में 2014-15 में भारत की जीडीपी वृद्धि दर 7.2 फीसदी जबकि 2015-16 में यह 7.6 फीसदी रही.

मथुरा, कैराना की घटनाओं को लेकर अमित शाह ने सपा सरकार पर किया हमला

अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मथुरा में हाल में हुई हिंसा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एक कस्बे से हिंदुओं के पलायन का उल्लेख करते हुए राज्य में ‘हिंसा के वातावरण' को लेकर समाजवादी पार्टी सरकार पर आज जोरदार हमला किया. शाह ने यहां भाजपा की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी के अपने उद्घाटन भाषण में 2017 में पार्टी के समक्ष चुनौतियों पर भी जोर दिया जब उत्तर प्रदेश, पंजाब, गुजरात, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव होंगे.

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे इसके लिए कमर कसते हुए मोदी सरकार की ‘उपलब्धियों' के बारे में जनता को अवगत करायें. ऐसे में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित पार्टी का पूरा नेतृत्व मौजूद था शाह ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा और कहा कि वह ‘तेजी से कमजोर हो रही है.' उन्होंने कहा कि ‘पिछले दो वर्षों में विकास के मार्ग में बाधा उत्पन्न करने की अपनी नीति के चलते कांग्रेस का जनाधार तेजी से घट रहा है.'

उन्होंने यह भी विश्वास जताया कि पार्टी 2017 में उत्तर प्रदेश की सत्ता में वापसी करेगी और 2019 चुनाव में केंद्र में सत्ता बरकरार रखेगी. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शाह के भाषण के बारे में संवाददाताओं को अवगत कराते हुए कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए मुख्यमंत्री पद का कोई उम्मीदवार नामित नहीं करेगी. उन्होंने कहा कि ऐसा निर्णय केवल पार्टी का संसदीय बोर्ड कर सकता है जो पार्टी का निर्णय करने वाला शीर्ष निकाय है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें