1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. simdega
  5. kartik purnima 2021 70 thousand devotees worshiped in ramrekha dham of simdega people arrived from many states smj

Kartik Purnima 2021: सिमडेगा के रामरेखा धाम में 70 हजार श्रद्धालुओं ने की पूजा अर्चना,कई राज्यों से पहुंचे लोग

कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सिमडेगा के रामरेखा धाम में 70 हजार श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगायी. चार दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान के तीसरे दिन शुक्रवार को झारखंड समेत अन्य राज्यों से काफी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंचे. इस दौरान श्रद्धालुओं को कोरोना गाइडलाइन का पालन कराते मंदिर प्रबंधक दिखे.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर सिमडेगा के रामरेखा धाम में पूजा अर्चना के लिए कतार में खड़े श्रद्धालु.
कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर सिमडेगा के रामरेखा धाम में पूजा अर्चना के लिए कतार में खड़े श्रद्धालु.
प्रभात खबर.

Kartik Purnima 2021 (रविकांत साहू, सिमडेगा) : कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सिमडेगा के रामरेखा धाम में लगने वाले चार दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान के तीसरे दिन शुक्रवार को करीब 70 हजार श्रद्धालुओं ने मंदिर में भगवान के दर्शन किये. रामरेखा धाम में झारखंड समेत ओड़िशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश एवं अन्य इलाकों से भी श्रद्धालुओं का आगमन हुआ. हालांकि, प्रशासन द्वारा कोविड-19 को देखते हुए मेला नहीं लगाने की बातें कही थी जिसका अनुपालन रामरेखा धाम विकास समिति ने किया.

चार दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान के तीसरे दिन शुक्रवार को रामरेखा धाम में हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे. कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर पहाड़ की चोटी पर स्थित धनुषाकार लक्ष्मण कुंड में श्रद्धालुओं ने स्नान किया. काफी संख्या में महिला श्रद्धालुओं का भी रामरेखा धाम में आगमन हुआ.

अहले सुबह पहाड़ की चोटी पर स्थित लक्ष्मण कुंड में स्नान कर लोग मंदिर में भगवान के दर्शन के लिए कतार में खड़े रहे. मंदिर का पट खुलने के बाद लगातार श्रद्धालुओं ने कोविड 19 का पालन करते हुए भगवान के दर्शन किये. रामरेखा धाम में मेला का आयोजन नहीं के कारण रामरेखा धाम में किसी प्रकार का होटल नहीं लगाया गया.

ऐसी स्थिति में अन्य प्रदेशों से आने वाले हजारों श्रद्धालुओं को भोजन उपलब्ध कराने के लिए रामरेखा धाम विकास समिति व विश्व हिंदू परिषद की ओर से सामूहिक रूप से प्रसाद के रूप में खिचड़ी का वितरण किया गया. जिसकी सराहना लोगों ने की. पहाड़ की चोटी पर मंदिर रहने के कारण शनिवार को अखंड हरिकीर्तन की पूर्णाहुति हवन पूजन के साथ की जायेगी.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें