केरसई प्रखंड को बनाया जायेगा जैविक खेती का हब

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

केरसई : प्रखंड मुख्यालय में जैविक कृषि पर एकदिवसीय कार्यशाला लगायी गयी. मुख्य अतिथि के रूप में उपायुक्त मृत्युंजय कुमार वर्णवाल उपस्थित थे. मौके पर उपायुक्त ने कहा कि केरसई प्रखंड को जैविक खेती का हब बनाया जायेगा. इसके लिए किसान आगे आयें, प्रशासन उनकी मदद करेगा. उन्होंने कहा कि यहां के किसान अमूनन वर्ष में एक ही फसल करते हैं.

हम चाहते है कि किसान दो से तीन फसल करें. प्रशासन द्वारा सिंचाई व जैविक खाद की पूरी व्यवस्था की जायेगी. किसानों को मवेशी खुलाछोड़ने की शिकायत पर उपायुक्त ने मुखिया व बीडीओ को निर्देश दिया कि एक सप्ताह के अंदर एक कमेटी का गठन कर मवेशियों को खोले जाने पर रोक लगायें. कहा कि जो नहीं मानते हैं, उनके मवेशी को जब्त कर जुर्माना लगायें.
प्रखंड विकास पदाधिकारी कुमार अभिनव ने किसानों को जैविक खेती के बारे में बताते हुए कहा की केरसई प्रखंड में अभी कम से कम 1200 एकड़ जैविक खेती आच्छादित करने का लक्ष्य रखा गया है. हमारा प्रयास है कि केरसई प्रखंड में एक भी किसान अपनी जमीन में रासायनिक खाद का प्रयोग न करें. उन्होंने कहा कि किसान अपना रजिस्ट्रेशन करायें.
रजिस्ट्रेशन के बाद किसानों को एक स्मार्ट कार्ड मिलेगा. स्मार्ट कार्ड द्वारा किसान संबंधित दुकान से जैविक खाद में उपयोग होनेवाले सामान ले सकेंगे. कार्यक्रम का संचालन प्रणव कुमार ने किया. मौके पर आत्मा के बीटीएम हसीब उल अंसारी, केरसई प्रखंड के सभी प्रखंड कर्मी व किसान उपस्थित थे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें