37.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

उत्तराखंड सुरंग से झारखंड के ये 3 मजदूर बाहर निकले सबसे पहले, परिजन वहीं कर रहे हैं कैंप

झारखंड सरकार ने दो अधिकारियों को उत्तराखंड रवाना कर दिया है. जैप आइटी के सीइओ भुवनेश प्रताप सिंह और संयुक्त श्रमायुक्त राजेश प्रसाद उत्तराखंड के लिए रवाना हो गये हैं.

उत्तराखंड सुरंग में फंसे मजदूरों का रेस्क्यू मंगलवार को किया गया. झारखंड के अनिल बेदिया, विजय और गणपति सबसे पहले सुरंग से बाहर निकाले गये. अनिल बेदिया रांची के खिराबेरा गांव के रहने वाले हैं. गणपति खूंटी के रहने वाले हैं. गौरतलब है कि कुल 41 मजदूरों में झारखंड के 15 मजदूर सुरंग में फंसे हुए थे. उनके परिजन भी वहीं कैंप कर रहे हैं. झारखंड के दो अधिकारी भी वहां तैनात हैं. हालांकि वहां तैनात अधिकारियों को किसी मजदूर से मिलने नहीं दिया गया है. संयुक्त श्रमायुक्त राकेश प्रसाद ने बताया कि मंगलवार को सारे मजदूर भी एनडीआरएफ की निगरानी में हैं. उनका अस्पताल में चेकअप किया जा रहा है. संभवत: बुधवार को मिलने दिया जाये. इसके बाद यदि वे एनडीआरएफ से रिलीज होते हैं तो उन्हें एयरलिफ्ट करके रांची लाया जायेगा.

दो अधिकारी उत्तराखंड रवाना

झारखंड सरकार ने दो अधिकारियों को उत्तराखंड रवाना कर दिया है. जैप आइटी के सीइओ भुवनेश प्रताप सिंह और संयुक्त श्रमायुक्त राजेश प्रसाद उत्तराखंड के लिए रवाना हो गये हैं. वे बुधवार को वहां पहुंच जायेगे. गौरतलब है कि आरंभ में भी यह दोनों अधिकारी उत्तराखंड गये थे.

Also Read: PHOTO उत्तराखंड सुरंग हादसा: टनल में फंसे झारखंड के मजदूर से उसकी भाभी ने की बात, बताया ठीक है सबकुछ
मजदूरों को 24 घंटे रखा जायेगा अस्पताल में:

मौके पर मौजूद संयुक्त श्रमायुक्त राकेश प्रसाद ने बताया कि मजदूरों के परिजन सुरंग के पास ही कंपनी के बेस कैंप में ठहरे हुए हैं. उनके खाने-पीने और रहने की पूरी व्यवस्था की गयी है. मजदूरों को अस्पताल से रिलीज करने के बाद उन्हें सड़क मार्ग से दिल्ली एयरपोर्ट लाया जायेगा. राज्य सरकार की ओर से फ्लाइट से झारखंड लाने के लिए व्यवस्था की गयी है.

परिजनों को बात करने की इजाजत नहीं:

सुरंग के पास मौजूद झारखंड के मजदूरों के परिजनों को भी बात करने की इजाजत नहीं दी गयी है. झारखंड राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष द्वारा कई मजदूरों के परिजनों से संपर्क किया गया, पर उन्होंने कहा कि अभी उन्हें भी मिलने नहीं दिया गया है. बुधवार को अस्पताल में ही मुलाकात होगी.

टनल से मजदूरों के सकुशल बाहर निकलना राहत व संतोष की बात है :

राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने कहा कि यह हम सभी के लिए यह राहत और संतोष की बात है. राज्यपाल ने इस कार्य में दिन रात लगी रेस्क्यू टीम के सभी सदस्यों को भी बधाई व धन्यवाद दिया है.

श्रम विभाग लगातार मजदूरों के संपर्क में है :

सफल रेस्कयू ऑपरेशन के बाद श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि श्रम विभाग लगातार मजदूरों के संपर्क में हैं. सभी श्रमिक सुरक्षित हैं. उन्हें बेहतर उपचार के लिए भेजा गया है.

श्रम विभाग लगातार मजदूरों के संपर्क में है :

सफल रेस्कयू ऑपरेशन के बाद श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा कि श्रम विभाग लगातार मजदूरों के संपर्क में हैं. सभी श्रमिक सुरक्षित हैं. उन्हें बेहतर उपचार के लिए भेजा गया है.

झारखंड के ये 15 मजदूर फंसे थे

नाम जगह

अनिल बेदिया रांची

राजेंद्र बेदिया रांची

सुकराम बेदिया रांची

चमरा उरांव खूंटी

विजय होरो खूंटी

गणपति होरो खूंटी

विश्वजीत कुमार गिरिडीह

सुबोध कुमार गिरिडीह

टिंकू सरदार पूर्वी सिंहभूम

गुनोधर नायक पूर्वी सिंहभूम

रणजीत लोहार पूर्वी सिंहभूम

रवींद्र नायक पूर्वी सिंहभूम

समीर नायक पूर्वी सिंहभूम

भुक्तू मुर्मू पूर्वी सिंहभूम

महादेव नायक पूर्वी सिंहभूम

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें