1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand politics update in the rajya sabha horse trading case congress leader subodh kant was questioned by the pa legislator amba prasads mother had taken the assembly along srn

राज्यसभा हॉर्स ट्रेडिंग मामले में कांग्रेस नेता सुबोधकांत के पीए से पूछताछ, विधायक अंबा प्रसाद के माता जी को साथ लेकर गये थे विधानसभा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
राज्यसभा हॉर्स ट्रेडिंग मामले में कांग्रेस नेता सुबोधकांत के पीए से पूछताछ
राज्यसभा हॉर्स ट्रेडिंग मामले में कांग्रेस नेता सुबोधकांत के पीए से पूछताछ
File Photo

Horse Trading Case Update Jharkhand रांची : राज्यसभा हॉर्स ट्रेडिंग 2016 मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय के पीए दीपक प्रसाद से रविवार को जगन्नाथपुर थाना में अनुसंधानकर्ता ने पूछताछ की. उनसे पूछा गया कि आप वोटिंग के दिन निर्मला देवी के साथ क्या कर रहे थे. दीपक प्रसाद ने अपने बयान में कहा कि राज्यसभा चुनाव 2016 में पुरानी विधानसभा में वोटिंग होनी थी. उस दिन उन्हें सुबोधकांत सहाय ने कहा कि निर्मला जी एक जगह पर हैं. तुम वहां पर चले जाओ. उनके साथ कोई नहीं है. उन्हें वोटिंग करने विधानसभा जाना है.

इसके बाद वे निर्मला देवी के पास चले गये. उनको लेकर वे एक नेता के पास गये. फिर वहां से उन्हें लेकर वे पुरानी विधानसभा गये. वहां पर निर्मला देवी ने वोट डाला. इसके बाद वे विधानसभा से बाहर निकलीं. फिर उन्होंने कहा कि कुछ जरूरी काम से उन्हें कहीं जाना है, इसलिए आप अब चले जायें. इसके बाद वे धुर्वा सेक्टर थ्री स्थित आवास लौट आये. दीपक से यह भी पूछा गया कि आखिर क्या वजह थी कि वोटिंग के दिन निर्मला देवी के साथ उनके पति योगेंद्र साव, बेटे व बेटी नहीं थे. इस पर उन्होंने कहा कि सेक्टर थ्री स्थित निर्मला देवी के आवास को हजारीबाग पुलिस घेरे हुए थी. घर में योगेंद्र साव थे.

डर से निर्मला देवी के देवर व बच्चे किसी और जगह पर थे. यही वजह थी कि सुबोधकांत सहाय ने उन्हें निर्मला देवी की मदद करने के लिए कहा था. दीपक प्रसाद ने यह भी कहा कि वोटिंग के दिन निर्मला देवी के पीए संजीत कुमार भी थे. इसके अलावा उन्हें कुछ और जानकारी नहीं है. फिलवक्त संजीत योगेंद्र साव व निर्मला देवी की विधायक बेटी अंबा प्रसाद के पीए हैं. जगन्नाथपुर पुलिस मामले में इनसे भी पूछताछ करेगी.

बता दें कि इस मामले में चुनाव आयोग के निर्देश पर गृह विभाग के अवर सचिव ने जगन्नाथपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी थी. इसमें तत्कालीन सीएम रघुवर दास के सलाहकार अजय कुमार व एडीजी अनुराग गुप्ता को नामजद आरोपी बनाया गया था. मामले में अब हेमंत सरकार ने तीनों के खिलाफ पीसी एक्ट के तहत जांच करने का भी आदेश 25 मई को जारी किया है.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें