28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बड़गाईं जमीन घोटाले में इडी ने शेखर कुशवाहा को किया गिरफ्तार

प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने बड़गाईं जमीन घोटाले में गाड़ीगांव निवासी शेखर कुशवाहा को गिरफ्तार किया है.

विशेष संवाददाता (रांची).

प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने बड़गाईं जमीन घोटाले में गाड़ीगांव निवासी शेखर कुशवाहा को गिरफ्तार किया है. बुधवार को लंबी पूछताछ के बाद इडी ने उसे देर शाम गिरफ्तार किया. उसे गुरुवार को पीएमएलए के विशेष न्यायाधीश की अदालत में पेश किया जायेगा. अदालत में पेशी के बाद आगे की जांच के लिए उसे रिमांड पर लिये जाने की संभावना है. पूर्व में इस मामले में हेमंत सोरेन, रांची के तत्कालीन उपायुक्त छवि रंजन, झामुमो नेता अंतु तिर्की सहित कुल 21 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. शेखर कुशवाहा जमीन घोटाले में गिरफ्तार किया जानेवाला 22वां अभियुक्त है. फर्जी दस्तावेज के सहारे जमीन की खरीद-बिक्री के मामले की जांच के दौरान इडी ने पाया कि शेखर बड़गाईं अंचल के गाड़ी मौजा की 4.83 एकड़ जमीन की खरीद-बिक्री में शामिल है. इडी द्वारा कोलकाता रजिस्ट्री कार्यालय के तापस घोष, संजीत कुमार और हजारीबाग के डीड राइटर इरशाद अख्तर की गिरफ्तारी और पूछताछ के बाद इस जमीन की खरीद-बिक्री से संबंधित जानकारी मिली थी. गिरफ्तार किये गये अभियुक्तों ने इस जमीन की खरीद-बिक्री में शेखर की भूमिका से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी थी. जांच में पाया गया कि शेखर महतो उर्फ शेखर कुशवाहा ने सद्दाम हुसैन, अफसर अली और प्रिय रंजन सहाय के साथ मिल कर वर्ष 1974 की फर्जी सेल डीड तैयार की थी. कोलकाता के रजिस्ट्री कार्यालय में रखे मूल दस्तावेज में छेड़छाड़ कर तैयार किये गये इस सेल डीड का नंबर 3954 था. इस सेल डीड में 4.83 एकड़ जमीन शामिल है. सरकारी दस्तावेज के अनुसार, इस जमीन का मालिक तेतरा भोक्ता है. लेकिन दस्तावेज में जालसाजी कर रमेंद्र घोषाल को जमीन का मालिक बनाया गया. इसके बाद बड़गाईं अंचल के राजस्व कर्मचारी के साथ साजिश रच कर रजिस्टर-2 में रमेंद्र घोषाल का नाम जमीन के मालिक के रूप में दर्ज किया गया. फर्जी डीड तैयार करने के लिए मूल दस्तावेज और कागज कोलकाता रजिस्ट्री कार्यालय के कर्मचारियों ने उपलब्ध कराया था. जबकि फर्जी डीड लिखने का काम इरशाद अख्तर ने किया था.

ठोस सबूत जुटाने के बाद इडी ने शेखर को भेजा समन :

इडी को जमीन घोटाले की जांच के पहले चरण में अफसर अली सहित अन्य के ठिकानों पर हुई छापेमारी के दौरान शेखर कुशवाहा के भी जमीन के कारोबार में शामिल होने की जानकारी मिली थी. पहले चरण के दौरान मिली सूचनाओं के आधार पर इडी ने आगे की जांच जारी रखी. शेखर के खिलाफ ठोस सबूत जुटाने के बाद इडी ने उसे समन भेजा. समन के आलोक में वह 12 जून को पूछताछ के लिए इडी के क्षेत्रीय कार्यालय में उपस्थित हुआ. यहां लंबी पूछताछ के बाद इडी ने देर शाम उसे गिरफ्तार कर लिया.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें