1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. ashoknagar co operative society management committee suspended srn

अशोकनगर को-ऑपरेटिव सोसाइटी प्रबंध समिति निलंबित

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date

रांची : सर्विसेज हाउसिंग को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, अशोक नगर (अशोक नगर कॉपरेटिव सोसाइटी) के प्रबंध समिति (मैनेजमेंट कमेटी) को सहकारिता विभाग ने निलंबित कर दिया है. सहकारिता निबंधक ने रांची के सहकारिता पदाधिकारी मनोज कुमार को प्रशासक नियुक्त किया है. सोसाइटी पर संस्था के संचालन में अनियमितता का आरोप लगा है.

सहकारिता विभाग के निबंधक मृत्युंजय वर्णवाल ने संस्था के सचिव एवं प्रबंध समिति के विरुद्ध आयकर विभाग में समिति का रिटर्न फाइल दाखिल करने में लापरवाही बरतने तथा समिति को सूद सहित 1,07,24,750 रुपये की हानि की वसूली करने का आदेश दिया गया था. इस मामले में स्पष्टीकरण भी किया गया था, लेकिन निबंधक स्पष्टीकरण से संतुष्ट नहीं हुए.

इसके बाद श्री वर्णवाल ने सर्विसेज हाउसिंग कोओपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, अशोक नगर के प्रबंध समिति को निलंबित कर दिया है. इसके स्थान पर जिला सहकारिता पदाधिकारी मनोज कुमार को अगले तीन माह के लिए विशेष पदाधिकारी नियुक्त किया है. विशेष पदाधिकारी केवल दैनिक कार्यों का निष्पादन करेंगे. एक सप्ताह के अंदर समिति के कार्यकलापों संबंधित अभिलेखों के आधार पर निबंधक को रिपोर्ट सौंपेंगे.

सोसाइटी पर लगे आरोप

सोसाइटी पर समिति के सदस्यों को आवंटित भूखंडों पर तीन वर्षों में निर्माण नहीं करने, आवास बोर्ड के पत्र के आधार पर अधिक्रमित 2.10 एकड़ भूमि तथा आवंटित रिक्त प्लॉटों की वापसी संबंधी कार्रवाई उपलब्ध नहीं कराने का आरोप है. जिला सहकारिता पदाधिकारी से 12 बिंदुओं पर जांच करायी गयी थी. इसमें सदस्यों को प्राप्त प्लॉट, सदस्यों को आवंटित प्लॉटों में निर्मित भवनों का आवासीय उपयोग, भूखंडधारियों के द्वारा निर्मित भवन का व्यावसायिक उपयोग में लाये जाने संबंधी कार्यों का आरोप भी था. इस संबंध में बोर्ड ने जो स्पष्टीकरण दिया था, उससे निबंधक संतुष्ट नहीं थे.

508 सदस्य हैं सोसाइटी में

सोसाइटी में 508 सदस्य हैं. संस्था के पदाधिकारियों के अनुसार सहकारिता विभाग की इस कार्रवाई के खिलाफ ऊंचे फोरम में बात रखी जायेगी. मालूम हो कि सहकारिता विभाग संस्था के कार्यों का ऑडिट भी करा रहा है. करीब 15 दिनों से इसका ऑडिट हो रहा है. इस सोसाइटी में राज्य के कई वीआइपी अधिकारी और अन्य पेशे से जुड़े लोगों का प्लॉट है.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें