26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गलत करने पर कुलपति ही नहीं, कुलाधिपति भी हों दंडित : राज्यपाल

राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने कहा कि शिक्षकों की कमी को लेकर राजभवन गंभीर है. समय-समय पर इसको लेकर प्रयास भी करते हैं.

बिरसा कृषि विवि का 44वां स्थापना दिवस समारोह

रांची. राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने कहा कि शिक्षकों की कमी को लेकर राजभवन गंभीर है. समय-समय पर इसको लेकर प्रयास भी करते हैं. लेकिन, गलती पर सिर्फ कुलपति ही नहीं, कुलाधिपति को भी दंडित करना चाहिए. कानून सबके लिए बराबर होना चाहिए. राज्यपाल बिरसा कृषि विवि के 44वें स्थापना दिवस समारोह में बोल रहे थे. यह समारोह बुधवार को बीएयू सभागार में मनाया गया. राज्यपाल ने कहा कि कृषि के बिना किसी संस्कृति का अस्तित्व नहीं रहेगा. कृषि, किसान और गांवों की बेहतरी के लिए सबको मिलकर काम करना चाहिए. आनेवाले समय में कम भूमि, कम पानी और कम प्राकृतिक संसाधन के साथ ही ज्यादा उत्पादन करने की चुनौती सामने आयेगी. इसके लिए वैज्ञानिकों को कमर कसनी है और रणनीति विकसित करनी है.

कुलपति को मिले नियुक्ति का अधिकार

इस दौरान बीएयू के कुलपति प्रो एससी दुबे ने शिक्षकों की कमी दूर करने का आग्रह किया. कहा कि देश के सभी विवि में कुलपति को शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारी नियुक्ति का अधिकार है. यहां भी दिया जाना चाहिए. पूर्व में हुई गलतियों को ध्यान में रखकर, यह प्रावधान किया जाये कि गलती होने पर कुलपति भी दंडित होंगे.

शारीरिक मेहनत, वजन पर नियंत्रण जरूरी

रिम्स रांची के निदेशक एवं सीइओ डॉ राजकुमार ने कहा कि ह्रदय रोग, सड़क दुर्घटना और कैंसर के साथ-साथ खाद्य पदार्थों में मिलावट एवं घातक रसायनों का अंश होना मौत का प्रमुख कारण बनता जा रहा है. उन्होंने कहा कि नियमित व्यायाम, शारीरिक वजन प्रबंधन और ताजे फल-सब्जियों के समुचित उपभोग से कैंसर होने की संभावना को कम किया जा सकता है. भारतीय कृषि जैव प्रौद्योगिकी संस्थान, नामकुम के निदेशक डॉ सुजय रक्षित ने कहा कि स्थापना दिवस का अवसर उपलब्धियों के सिंहावलोकन के साथ-साथ संस्थान के समक्ष उपस्थित चुनौतियों के आकलन और उनसे निबटने के रोड माप पर चिंतन करने का भी है. समारोह का संचालन शशि सिंह और धन्यवाद ज्ञापन डॉ बीके अग्रवाल ने किया.

विद्यार्थियों और पूर्व कर्मियों को किया गया सम्मानित

इस अवसर पर राज्यपाल ने विश्वविद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट जारी की. प्रो एनसी दास की पुस्तक एंट्रेप्रेनुरल डिज़ाइन्स फॉर स्टार्ट अप्स का लोकार्पण किया. 80 वर्ष से अधिक उम्र के डॉ डीके ठाकुर, डॉ डीके मुखर्जी, डॉ डीके झा, ध्रुव राज महतो, सुकरी मेहतरानी तथा अर्जुन प्रसाद को सम्मानित किया. शिक्षकों की निबंध प्रतियोगिता में डॉ एंजल दीपक शयनराव प्रथम, डॉ पुनीता कुमारी द्वितीय और डॉ शेखर साहू को तृतीय पुरस्कार मिला. निबंध प्रतियोगिता में आकाश कुमार गुप्ता प्रथम, भारती कुमारी द्वितीय और अमरेंद्र कुमार वर्मा तृतीय रहे. यूजी विद्यार्थियों की ऑन द स्पॉट निबंध प्रतियोगिता में तनुश्री प्रथम, यशी द्वितीय और प्रेरणा भारती को तृतीय स्थान मिला. स्नातकोत्तर छात्र-छात्राओं की निबंध प्रतियोगिता में जेबा सदफ प्रथम, गुलाम मुर्तजा द्वितीय और हसन शौफीक को तृतीय पुरस्कार मिला. साथ ही पलामू के किसान कपिलदेव ठाकुर, पूर्वी सिंहभूम के अमित कुमार महतो, चतरा के बीरेंद्र कुमार तथा बोकारो की संगीता देवी को भी सम्मानित किया गया.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें