कोडीन कफ सिरप के 400 कार्टन जब्त नशा के लिए इस्तेमाल होने की आशंका

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : औषधि निरीक्षकों व कोतवाली डीएसपी के नेतृत्व में सुखदेवनगर पुलिस ने बुधवार को रातू रोड स्थित अमरूद बागान की आरके इंटरप्राइजेज नामक दवा दुकान में छापेमारी की़ इस दौरान पुलिस ने 400 से ज्यादा कार्टन कोडीन कफ सिरप को जब्त किया.यह दुकान बिना लाइसेंस के संचालित हो रही थी़ अधिकारियों ने राज्य के विभिन्न जिलों में नशे के रूप में इसका इस्तेमाल होने की आशंका जतायी है़

जब्त कफ सिरप की कीमत 50 लाख से अधिक बतायी जा रही है़ इस संबंध मेें ड्रग इंस्पेक्टर के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है़ इस मामले में पुलिस ने दीपक कुमार सिंह व विमलेंदु कुमार यादव को हिरासत में लिया है, जबकि संचालक संतोष कुमार गुप्ता फरार है़ उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है़
दुकान में कफ सिरप के अलावा अन्य एलोपैथी दवाएं भी अनधिकृत रूप से बिक्री के लिए रखी गयी थीं. कफ सिरप की बिक्री का कारोबार राजधानी से पूरे राज्य में किया जाता था. औषधि निरीक्षकों को जानकारी मिली थी कि अारके इंटरप्राइजेज का संचालक संतोष कुमार पूरे राज्य में कोडीन कफ सिरप उपलब्ध कराता है. करीब छह दिनों से औषधि निरीक्षक इस पर नजर रखे हुए थे. चतरा से संपर्क करने के बाद मंगलवार की रात से ही छापेमारी चल रही थी.
पुलिस ने इस कारोबार में लिप्त कई लोगों काे गिरफ्तार भी किया था, जिनकी सूचना पर पिस्का मोड़ स्थित अमरूद बगान में छापेमारी की गयी. छापेमारी में नौ से ज्यादा औषधि निरीक्षक शामिल थे. सूचना मिलने पर ड्रंग कंट्रोलर रितु सहाय, संयुक्त सचिव सुरेंद्र प्रसाद व सुजीत कुमार भी पहुंचे थे़ छापामारी में ड्रग इंस्पेक्टर चंदन प्रसाद कश्यप, राजीव एक्का, रामकुमार झा, अमित, अमरेश कुमार, मुंजपरा घनश्याम, रामचंद्र बेसरा, रंजीत निखिल ओड़िया व कैलाश मुंडा आदि शामिल थे.
पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लिया, संचालक फरार
कोडीन नाम से बिकनेवाले कफ सिरप की बड़ी खेप पकड़ी गयी है. बिना लाइसेंस के संचालित उक्त दुकान में कफ सिरप व अन्य दवाओं की बिक्री की जाती थी. इतनी मात्रा में कफ सिरप के मिलने से लगता है इसका उपयोग नशा के रूप में किया जा रहा होगा. इसकी जांच की जा रही है़
सुरेंद्र प्रसाद, संयुक्त सचिव, औषधि निदेशालय
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें