1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. finance minister rameshwar oraon announced now the government will give pension to every old person srn

वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने की घोषणा, अब हर वृद्ध लोगों को पेंशन देगी सरकार

नगर भवन में रविवार को राज्य स्थापना दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया. मुख्य अतिथि के रूप में मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव शामिल हुए. कार्यक्रम स्थल पहुंचने पर महिलाओं ने पारंपरिक तरीके से मंत्री का स्वागत किया.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
अब हर वृद्ध लोगों को पेंशन देगी सरकार
अब हर वृद्ध लोगों को पेंशन देगी सरकार
फाइल फोटो

नगर भवन में रविवार को राज्य स्थापना दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया. मुख्य अतिथि के रूप में मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव शामिल हुए. कार्यक्रम स्थल पहुंचने पर महिलाओं ने पारंपरिक तरीके से मंत्री का स्वागत किया. इसके बाद कार्यक्रम का शुभारंभ मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव, डीसी दिलीप कुमार टोप्पो समेत अन्य अधिकारियों ने किया.

मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सभी गरीबों को हरा राशन कार्ड, राशन कार्डधारियों को धोती, लुंगी, साड़ी और वृद्ध लोगों को पेंशन देने का निर्णय लिया है. अब सरकार सभी वृद्धों को पेंशन देगी, जो उनके बुढ़ापे का सहारा होगा. उन्होंने कहा कि टाना भगतों ने देश की आजादी के लिए अपनी जमीन व घर समेत सर्वस्व का त्याग किया. आज हमें टाना भगतों के त्याग को सलाम करने की जरूरत है. टाना भगतों की जमीन की सुरक्षा के लिए टाना भगत स्पेशल लैंड एक्ट बना.

राज्य की स्थापना से अब तक प्रत्येक सरकारें टाना भगतों के उत्थान के लिए कार्य करती रही है और आगे भी करती रहेंगी. उन्होंने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा ने देश की आजादी के लिए संघर्ष किये. राज्य की स्थापना के लिए तत्कालीन नेताओं द्वारा बिरसा मुंडा की जयंती की तिथि का ही प्रस्ताव रखा गया, जो स्वीकार कर लिया गया. फलस्वरूप 15 नवंबर 2000 को इस राज्य की स्थापना हुई. तब से हम इस दिवस पर राज्य स्थापना दिवस मनाते आये हैं.

कोरोना से प्रभावित हुए विकास कार्य:

कोविड की वजह से बीते दो वर्षों में कई बार विकासात्मक कार्य प्रभावित हुए. अभी राज्य सरकार अपने दो वर्ष पूरे होने पर आपके अधिकार-आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम प्रत्येक पंचायतों में आयोजित करने जा रही है. उन्होंने लोगों से कहा कि आप सभी इस कार्यक्रम में पहुंच योजनाओं का लाभ लें. उन्होंने पदाधिकारियों को जमीन संबंधी मामलों का निष्पादन शिविर लगा कर करने की बात कही. बताया कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस कार्यक्रम की शुरुआत खूंटी जिले के उलीहातू से करने का निर्णय लिया है.

सरकारी धान क्रय केंद्र पर ही बेचें अपना धान:

मंत्री ने कहा कि इस बार अच्छी फसल हुई है. किसान अपनी फसल का बेहतर मूल्य प्राप्त करें. इसके लिए सरकार ने धान क्रय केंद्र निर्धारित किये हैं. लैम्पस में किसान अपना निबंधन करा कर अपना धान इन केंद्रों पर बेचें. धान बेचते कुल मूल्य की 50 प्रतिशत राशि लाभुक किसान के बैंक खाते में हस्तांतरित की जायेगी. शेष राशि तीन माह के अंदर हस्तांतरित कर दी जायेगी. उन्होंने कहा कि किसानों को सरकार की ओर से धान का मूल्य 20.50 प्रति किग्रा मिलेगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें